कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मंगलवार को आरोप लगाया कि आर्थिक संकट, कोरोना वायरस महामारी और चीन के साथ सीमा पर तनाव से जुड़े संकट की मुख्य वजह भाजपा की अगुवाई वाली राजग सरकार का कुप्रबंधन और उसकी नीतियां हैं.Also Read - 'जागो बांग्ला' में TMC ने कहा- कांग्रेस की ताकत 'खत्म', BJP से लड़ने को ममता बनर्जी ही विपक्ष का चेहरा

उन्होंने पार्टी की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक को संबोधित करते हुए मोदी सरकार पर निशाना साधा. Also Read - चर्चित पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला कांग्रेस में हुए शामिल, विवादों को लेकर खूब रहे हैं सुर्खियों में

सोनिया ने कहा कि भारत भयावह आर्थिक संकट से घिरा है, वृहद स्तर पर महामारी का सामना कर रहा है और अब चीन के साथ सीमा संकट खड़ा हो गया है. Also Read - राहुल गांधी का केंद्र पर बड़ा हमला, कहा- आंदोलन में जान गंवाने वाले 700 किसानों के परिजनों के बारे में सोचें पीएम, मुआवजा दें

उन्होंने आरोप लगाया कि इनमें से हर संकट की मुख्य वजह भाजपा नीत राजग सरकार का कुप्रबंधन और उसकी नीतियां हैं.

सोनिया ने यह भी दावा किया कि सरकार पेट्रोल एवं डीजल के दाम बढ़ाकर लोगों के घाव पर नमक छिड़क रही है.

कांग्रेस अध्यक्ष के मुताबिक इस वक्त की जरूरत है कि बड़ा प्रोत्साहन पैकेज दिया जाए, गरीबों के हाथ मे सीधे पैसे दिए जाएं और एमएसएमई की रक्षा की जाए.

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने बैठक में कहा कि सीमा पर जो संकट है, उससे अगर मजबूती से नहीं निपटा गया तो गम्भीर हालात पैदा हो सकते हैं.

उन्होंने यह भी कहा कि सरकार कोरोना महामारी का मुकाबला उस साहस और उस स्तर पर नहीं कर रही है जिसकी जरूरत है.