नई दिल्ली: कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखकर गरीबों और जरूरतमंदों को मुफ्त अनाज वितरण अवधि तीन महीने बढ़ाकर सितंबर तक करने की मांग की है. सोनिया ने कहा है कि चूंकि तीन महीने पहले लॉकडाउन की घोषणा की गई थी, लिहाजा लाखों की संख्या में लोग गरीबी में पहुंचने के कगार पर हैं और प्रतिकूल असर ने खाद्य असुरक्षा की स्थिति पैदा कर दी है. Also Read - Corona Virus in India: इन 8 राज्यों में हैं 90 प्रतिशत मरीज, देश में क्या है कोरोना वायरस का हाल, जानें

सोनिया गांधी ने पत्र में कहा है, “केंद्र सरकार को मुफ्त अनाज वितरण के प्रावधान को अतिरिक्त तीन महीने बढ़ाकर सितंबर 2020 तक करने पर हर हाल में विचार करना चाहिए, जैसा कि कई राज्यों ने भी अनुरोध किया है.” कांग्रेस अध्यक्ष ने यह मांग भी की कि अस्थायी राशन कार्ड उपलब्ध कराए जाने चाहिए, क्योंकि कई गरीब परिवार पीडीएस से बाहर हैं. Also Read - Operation Samudra Setu: भारतीय नौसेना ने पूरा किया 'ऑपरेशन समुद्र सेतु', 3 देशों से 4000 भारतीयों की हुई वापसी

उन्होंने कहा कि सरकार के पास अंत्योदय योजना और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत जून तक प्रति व्यक्ति पांच किलोग्राम अनाज देने का प्रावधान पहले से है, और सरकार ने इस सुविधा को उन प्रवासियों को भी दिया है, जो पीडीएस में शामिल नहीं हैं. कांग्रेस नेता ने कहा कि महामारी और लॉकडाउन के कारण शहरी और गरीब भारतीय भूखमरी का सामना कर रहे हैं और इसलिए भोजन हकदारी योजना बढ़ाई जानी चाहिए. Also Read - वैक्सीन न बनी तो भारत में आएगी तबाही, 2021 की सर्दियों में हर दिन आएंगे कोरोना के 2. 87 लाख केस, रिसर्च में दावा