नई दिल्ली: सोनिया गांधी कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष बन गई हैं. कांग्रेस कार्यकारिणी (सीडब्ल्यूसी) की शनिवार की शाम दोबारा हुई बैठक में पार्टी ने सोनिया गांधी को अंतरिम कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्त किया. इसके बाद निवर्तमान कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी के इस्तीफे पर प्रस्ताव पारित हुआ. इससे पहले सोनिया गांधी ने 1998 से लेकर 2017 तक कांग्रेस की कमान संभाली थी, जिसके बाद राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाया गया था.

 

राहुल गांधी द्वारा इस्तीफा वापस लेने से इनकार करने के बाद कांग्रेस कार्यसमिति ने शनिवार को कई घंटे तक चली मैराथन बैठक के बाद सोनिया गांधी को कांग्रेस का अंतरिम अध्यक्ष बनाने का फैसला लिया. कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक के बाद वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि सोनिया गांधी पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष होंगी. इससे पहले शनिवार को दो बार सीडब्ल्यूसी की बैठक हुई, जिसमें नेताओं ने राहुल गांधी से इस्तीफा वापस लेने का आग्रह किया, लेकिन उन्होंने साफ इनकार कर दिया. पार्टी अध्यक्ष बने रहने से राहुल गांधी के साफ मना करने के बाद सीडब्ल्यूसी ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया. राहुल के नहीं मानने के बाद सीडब्ल्यूसी ने सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष बनाने का निर्णय लिया.


आज दो बार हुई सीडब्ल्यूसी की बैठक
वरिष्ठ कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने बताया कि कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) ने सर्वसम्मति से सोनिया गांधी को AICC द्वारा नियमित अध्यक्ष का चुनाव लंबित रखने तक अंतरिम अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभालने का अनुरोध किया. बता दें इससे पहले आज दो बार सीडब्ल्यूसी की बैठक हुई जिसमें नेताओं ने राहुल से इस्तीफा वापस लेने का आग्रह किया, लेकिन उन्होंने साफ इनकार कर दिया. राहुल के नहीं मानने के बाद सीडब्ल्यूसी ने सोनिया को अंतरिम अध्यक्ष बनाने का निर्णय लिया.

25 मई को राहुल गांधी ने दिया था इस्तीफा
लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद 25 मई को हुई सीडब्ल्यूसी की बैठक में राहुल गांधी ने पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था. उस वक्त उनके इस्तीफे को अस्वीकार करते हुए सीडब्ल्यूसी ने उन्हें पार्टी में आमूलचूल बदलाव के लिए अधिकृत किया था, हालांकि गांधी अपने रुख पर अड़े रहे और स्पष्ट कर दिया कि न तो वह और न ही गांधी परिवार का कोई दूसरा सदस्य इस जिम्मेदारी को संभालेगा.