नई दिल्ली: लोकसभा में मंगलवार को राफेल जेट सौदे की जांच के लिए जेपीसी की मांग को लेकर कांग्रेस ने कार्यवाही में व्यवधान उत्पन्न किया, जिसके बाद सदन की कार्यवाही 15 मिनट के लिए स्थगित कर दी गई और स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कांग्रेस को फटकार लगाई. जैसे ही सदन की कार्यवाही शुरू हुई, कांग्रेस के सदस्य राफेल सौदे में कथित अनियमितताओं की जांच के लिए एक संयुक्त संसदीय समिति की मांग करते हुए अध्यक्ष के आसन के पास एकत्रित हो गए. Also Read - मुश्किल वक्त में प्रवासी मजदूरों के साथ हर समय खड़ी है समाजवादी पार्टी, हर संभव करेंगे मदद : अखिलेश यादव

Also Read - राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को झटका, गुजरात के दो और विधायकों ने दिया इस्तीफा

अटल जी ने कभी निजी हित के लिए रास्ता नही बदला, उनका जीवन एक सीख है: पीएम मोदी Also Read - नवजोत सिंह सिद्धू फिर बदलेंगे पार्टी! पंजाब में चुनाव से पहले कांग्रेस छोड़ थाम सकते हैं इस दल का दामन

क्या आप अपने दिन भूल गए हैं ?

सुमित्रा महाजन ने प्रश्न काल संचालित करने के लिए कांग्रेस सदस्यों से सदन में शिष्टाचार बनाए रखने की अपील की. जब उन्होंने महाजन के इस आग्रह को अनसुना कर दिया, तो उन्होंने कहा, “आप एक जिम्मेदार विपक्ष की तरह व्यवहार नहीं कर रहे हैं. क्या आप अपने दिन भूल गए हैं, जब आप सत्ता में थे?” महाजन ने कांग्रेस को फटकार लगाते हुए कहा, “यह सदन बहस और चर्चा के लिए है और आप वास्तव में इस अवसर का दुरुपयोग कर रहे हैं. आपका आचरण निम्न स्तरीय है.”

राज्यसभा की कार्यवाही भी स्थगित

राज्यसभा की कार्यवाही मंगलवार को कुछ सदस्यों के व्यवधान के चलते शून्यकाल के बीच में ही रोककर अपराह्न दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई. बजट सत्र के दौरान पहली बार ऊपरी सदन में शून्यकाल की कार्यवाही चल रही थी, इस दौरान विभिन्न दलों के सांसदों ने अपने मुद्दे उठाए. इस बीच, कुछ विपक्षी सांसद खड़े हो गए. सभापति एम. वेंकैया नायडू ने उन सांसदों से कहा कि उन्होंने पहले से नोटिस नहीं दिए, इसलिए वे अपनी बारी के बिना नहीं बोल सकते. सांसद सभापति की बात को अनसुना कर बोलते रहे, जिसके बाद नायडू ने सदन की कार्यवाही अपराह्न दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी.

छत्तीसगढ़: सरकारी योजनाओं से पं. दीनदयाल का नाम OUT, इंदिरा, राजीव व डॉ. आंबेडकर IN