Sputnik V Vaccination Update: भारत में रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-वी की स्थानीय वितरण भागीदार डॉक्टर रेड्डीज (Doctor Reddys) ने देश में इसके वैक्सीनेशन पर अहम जानकारी दी. डॉक्टर रेड्डीज ने बताया कि स्पूतनिक-वी हैदराबाद के अलावा अब नौ अन्य शहरों में भी उपलब्ध होगी. देश के जिन शहरों में वैक्सीन उपलब्ध होगी उनमें बेंगलुरु, कोलकाता, दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, विशाखापत्तनम, बद्दी, कोल्हापुर और मिर्यालागुडा शामिल हैं.Also Read - CoWIN Global Conclave का आज होगा आगाज, पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे संबोधित

हालांकि डॉक्टर रेड्डीज ने एक बयान में कहा कि अभी लोग वैक्सीन के लिए CoWIN वेब पोर्टल पर रूसी वैक्सीन स्पूतनिक वी के लिए पंजीकरण नहीं करा सकते हैं. ये सुविधा तभी उपलब्ध होगी जब इसे व्यावसायिक रूप से लॉन्च किया जाएगा. हालांकि रेड्डीज ने कहा कि इसकी पॉयलट लॉन्चिंग अपने अंतिम चरण में है और दोनों खुराक की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक व्यवस्था की जा रही है. Also Read - गर्भवती महिलाएं भी अब ले सकेंगी कोरोना का टीका, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी मंजूरी

अप्रैल में वैक्सीन के लिए इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिलने के बाद अपोलो हॉस्पिटल के सहयोग से डॉक्टर रेड्डीज ने 17 मई को स्पूतनिक-वी के लिए पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया था. पायलट लॉन्च के तहत हैदराबाद में 15 मई को वैक्सीन की पहली खुराक दी गई. Also Read - Covaxin News: अमेरिकी एजेंसी ने कहा- Covaxin अल्फा और डेल्टा दोनों वैरिएंट पर बेहद प्रभावी

मालूम हो कि स्पूतनिक-वी कोरोना वायरस के खिलाफ 91 फीसदी से ज्यादा प्रभावी है. एक अध्ययन के मुताबिक दुनियाभर में मौजूद सभी कोरोना वैक्सीन की तुलना में गमलेया सेंटर द्वारा तैयार ये वैक्सीन कोरोना वायरस के डेल्टा वायरस स्ट्रेन के खिलाफ अधिक प्रभावी है.

पिछले दिनों दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में रूसी वैक्सीन की उपलब्धता पर अहम जानकारी दी थी. उन्होंने कहा था कि दिल्ली को स्पूतनिक-वी (Sputnik V) से वैक्सीन मिलने का भरोसा मिला है. आने वाले दिनों में यानी जून महीने के अंदर ही दिल्ली सरकार को स्पूतनिक वैक्सीन मिल सकती है. हालांकि शुरूआत में दिल्ली सरकार को सीमित संख्या में ही यह वैक्सीन उपलब्ध हो सकेगी.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने वैक्सीनेशन को लेकर एक सवाल का जवाब देते हुए कहा था कि जल्दी-जल्दी वैक्सीन लगाएंगे, तभी लोगों की जान बचेगी. जितनी जल्दी और जितने ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगेगी, उतने ही ज्यादा लोगों की जान बचेगी. हमें तो लोगों को जल्दी से जल्दी वैक्सीन लगानी चाहिए.