श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर के श्रीनगर जिले में एक पुलिस चौकी पर शुक्रवार को हुए हमले में संलिप्त रहे सभी तीन आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. श्रीनगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हसीब मुगल ने रविवार को मीडिया से कहा कि चानपोरा पुलिस चौकी पर हमला करने के बाद 30 घंटों के भीतर तीनों आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

 

उन्होंने कहा कि हमने तत्काल अपने खुफिया तंत्र को चुस्त किया और गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने चानपोरा पुलिस थाने में हथियार छीनने की एक नाकाम कोशिश करने वाले सभी तीन आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया. मुगल ने कहा कि तीनों आतंकियों की पहचान, जुनैद, मुश्ताक और लतीफ के रूप में हुई है. उन्होंने कहा कि शुक्रवार शाम ये तीनों मोटरसाइकिल पर सवार होकर पुलिस चौकी गए, लेकिन वाहन को कुछ दूरी पर खड़ा कर दिया. उन्होंने कहा कि जुनैद अपने पासपोर्ट के सत्यापन की स्थिति का पता लगाने के बहाने पुलिस चौकी में गया. उसने वापस आकर अपने गुर्गों से कहा कि लगता है कि गार्ड ड्यूटी पर तैनात कांस्टेबल की मदद के लिए कोई नहीं है.

Jammu & Kashmir: अनंतनाग में सुरक्षा बलों की आतंकवादियों से मुठभेड़, दो आतंकी ढेर

आतंकवादी वसीम ने की थी हथियार-स्नैचिंग की कोशिश
मुगल ने कहा कि इसके बाद, मुश्ताक ने पुलिस चौकी में प्रवेश किया और कांस्टेबल पर अपनी पिस्तौल से गोली चलाई, जिससे वह घायल हो गया. लेकिन उसने जवाबी कार्रवाई की. हथियार छीनने का प्रयास सफल नहीं हुआ, क्योंकि घायल कांस्टेबल की सर्विस राइफल एक चेन से उसके बेल्ट से बंधी थी. पोस्ट के अंदर मौजूद अन्य पुलिसकर्मियों ने भी आतंकवादियों को भागने पर मजबूर कर दिया. एसएसपी ने कहा कि हथियार-स्नैचिंग की कोशिश पुलवामा जिले के एक सक्रिय आतंकवादी वसीम द्वारा की गई थी.

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मंत्री के ठिकानों पर आईटी ने छापा मारा

खुलासे के आधार पर और गिरफ्तारियां होने की संभावना
उन्होंने कहा कि गिरफ्तार लोगों के पास से चोरी की मोटरसाइकिल के अलावा एक चीनी पिस्तौल, दो मैगजीन और छह जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं. उन्होंने कहा कि गिरफ्तार आतंकियों द्वारा किए गए खुलासे के आधार पर इस घटना में और गिरफ्तारियां होने की संभावना है. हमले में घायल कांस्टेबल फिरोज अहमद का यहां के एक स्थानीय अस्पताल में इलाज चल रहा है.