नई दिल्ली/श्रीनगर. श्रीनगर से नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) विधायक शमीमा फिरदौस ने शनिवार को बीजेपी के ऊपर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि बीते 5 अक्टूबर को करफली मोहल्ले में हुए दो पार्टी के नेताओं की हत्या में बीजेपी और आरएसएस का हाथ है. उन्होंने कहा कि इसमें कोई शक नहीं है.Also Read - आरएसएस के मुखपत्र ने आमिर पर कसा तंज, कहा- 'ड्रैगन का प्यारा खान' 

फिरदौस ने कहा, मुजे इसे कहने में कोई भी हेजिटेशन नहीं है कि बीजेपी और आरएसएस ने हमारे कार्यकर्ताओं की हत्या की है. इसमें मुझे किसी तरह का शक नहीं है. फिरदौस ने कहा, बीजेपी ने हमारे वार्ड एरिया में कश्मीरी पंडित कैंडिडेट उतारा है. हमारे निर्दोश कार्यकर्ताओं की हत्या की गई है क्योंकि बीजेपी यहां तनाव पैदा करना चाहती है, जिससे कोई भी वोट देने न आए. बीजेपी चाहती है कि उसके उम्मीदवारों के खिलाफ कोई न उतरे. Also Read - नागरिकता विधेयक के विरोध में उतरे छात्र, इस यूनिवर्सिटी में भाजपा, आरएसएस के सदस्यों की एंट्री रोकी

Also Read - आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का बड़ा बयान, कहा- 'लिंचिंग' शब्द से देश और हिंदुओं को बदनाम करने की कोशिश

फिरदौस ने ये कहा
फिरदौस ने आगे कहा, पुलिस कह रही है कि कार्यकर्ताओं को आतंकियों ने मारा, लेकिन मृतक पार्टी कार्यकर्ता ने तो इनफॉर्मर थे और न ही किसी चुनावी प्रक्रिया में शामिल थे. आतंकवादी उन्हें क्यों मारेंगे? इसे कहने में मुझे कोई हेजिटेशन नहीं है कि पार्टी कार्यकर्ताओं की हत्या में बीजेपी और आरएसएस के कार्यकर्ताओं का हाथ है. बीजेपी चुनाव जीतने के लिए सबकुछ कर रही है.

बीजेपी ने किया इनकार
दूसरी तरफ बीजेपी ने इन चीजों से इनकार किया है. बीजेपी महासचिव अशोक कौल ने इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कहा, नेशनल कॉन्फ्रेंस कुछ समय से सत्ता से बाहर है. वह इस झुझलाहत में इस तरह का आरोप लगा रही है. हमारा मानना है कि कार्यकर्ता की हत्या दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. इस तरह की घटना नहीं होनी चाहिए.