श्रीनगर: जम्मू कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में रविवार की रात तापमान 11 साल में सबसे कम दर्ज किया गया. यहां न्यूनतम तापमान शून्य से 6.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जिससे सोमवार को डल झील और रिहायशी इलाकों में जल आपूर्ति के पाइपों में पानी जम गया. श्रीनगर में दिसंबर के महीने में अब तक का सबसे कम तापमान 13 दिसंबर 1934 को शून्य से 12.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया था.

मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने सोमवार को कहा, ‘‘श्रीनगर शहर में न्यूनतम तापमान शून्य से 6.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया. शहर में करीब 11 वर्ष में यह सबसे कम तापमान रहा है. 31 दिसंबर 2007 को शहर में न्यूनतम तापमान शून्य से 7.2 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया था.’’

शीतलहर के कारण यहां की डल झील समेत कुछ जलाशयों और जल आपूर्ति के पाइपों में पानी जम गया है. काजीगुंड में रविवार रात न्यूनतम तापमान शून्य से पांच डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया तथा पास के कोकरनाग में यह शून्य से 3.9 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया. उन्होंने बताया कि उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा में रविवार रात न्यूनतम तापमान शून्य से छह डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया.

अधिकारी ने बताया कि पहलगाम में रविवार रात का तापमान शून्य से 7.2 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा तथा गुलमर्ग में यह शून्य से 6.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया. अधिकारी ने बताया कि लेह में रविवार रात न्यूनतम तापमान शून्य से 14.7 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया और पास के करगिल में यह शून्य से 15.3 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा.

कश्मीर इस वक्त ‘चिल्लै कलां’ की गिरफ्त में है. 40 दिन की इस अवधि के दौरान सबसे अधिक सर्दी महसूस की जाती है और बर्फबारी भी अधिक होती है जिससे अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान में निरंतर गिरावट देखी जाती है. चिल्लै कलां 31 जनवरी को खत्म हो जाता है. हालांकि इसके बाद भी कश्मीर में शीतलहर जारी रहती है. मौसम विभाग ने बुधवार तक मौसम मुख्यत: शुष्क रहने का पूर्वानुमान जताया है.