नई दिल्ली: दिल्ली सरकार के पर्यटन विभाग ने मंगलवार को दिल्ली में स्टैंडअलोन रेस्तरां को मंजूरी देने की प्रक्रिया को समाप्त करने की अधिसूचना जारी कर दी है. कोरोना वायरस व लॉकडाउन के कारण अर्थव्यवस्था में आई गिरावट के बाद दिल्ली में रेस्तरां उद्योग के लिए यह अधिसूचना एक बड़ी राहत लेकर आई है. मुख्यमंत्री कार्यालय ने मंगलवार को आधिकारिक वक्तव्य जारी करते हुए कहा, “पिछले महीने सीएम अरविंद केजरीवाल द्वारा बैठक बुलाकर अधिकारियों को ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के तहत दिल्ली में रेस्तरां उद्योग को व्यापार करने में आ रही दिक्कतों को दूर करने के निर्देश दिए जाने के बाद यह अधिसूचना जारी की गई है. इससे दिल्ली में रेस्तरां इंडस्ट्री को बढ़ावा मिलेगा. साथ ही अर्थव्यवस्था दुरूस्त होगी और रोजगार मिलेगा.” Also Read - Delhi Corona Update: दिल्ली में कोरोना के करीब 4000 नए केस और 82 की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 5,78,324 पहुंचा

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की ओर से 7 अक्टूबर 2020 को रेस्तरां के लिए व्यापार आसान करने को लेकर बैठक की गई थी. जिसमें रेस्तरां संचालकों ने लाइसेंसिंग की लंबी फेहरिस्त का मुद्दा उठाया. सीएम ने तत्काल सभी विभागों को आदेश दिए कि रेस्तरां इंडस्ट्री के लिए गैर जरूरी लाइसेंस को खत्म किया जाए. मुख्यमंत्री के आदेश पर पर्यटन विभाग की ओर से लागू स्टैंडअलोन रेस्तरां को स्वैच्छिक अनुमति देने की प्रक्रिया को तत्काल प्रभाव से खत्म कर दिया गया है. दिल्ली सरकार के मुताबिक जून 2003 से पहले केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय द्वारा देश भर में रेस्तरां को मंजूरी देने की योजना लागू की गई थी. हालांकि, इस योजना को 30 जून 2003 को पूरे देश में बंद कर दिया गया था और राज्यों से कहा गया कि यदि वे इस योजना को लागू करना चाहते हैं, तो वे अपने स्वयं के दिशानिर्देश तैयार करके लागू करें. Also Read - Travel Guidelines: कोरोना काल में यात्रा का कर रहे हैं प्लान तो इन दिशा निर्देशों का रखें ध्यान, हर राज्य के हैं अपने-अपने नियम...

इस योजना को उसी वर्ष दिल्ली सरकार के पर्यटन विभाग ने अपना लिया था और 30 से अधिक सीटों वाले सभी रेस्तरां के लिए औपचारिक रूप से 2004 में इस प्रक्रिया को शुरू किया गया था. रेस्तरां एसोसिएशन के अनुरोध पर वर्षो से पर्यटन विभाग द्वारा विभिन्न समीक्षाएं और पुनर्विचार किए गए थे. हालांकि, हाल की परिस्थितियों (कोविड-19) के कारण, सीएम अरविंद केजरीवाल ने स्टैंडअलोन रेस्तरां के लिए स्वीकृति देने की स्वैच्छिक योजना को हटाने का आदेश दिया. सीएम अरविंद केजरीवाल ने 7 अक्टूबर 2020 को नेशनल रेस्टोरेंट एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एनआरएआई) के प्रतिनिधि मंडल के साथ बैठक की थी. इस बैठक में मुख्यमंत्री ने दिल्ली में रेस्तरां उद्योग के लिए ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में होने वाली परेशानियों को दूर करने के लिए मंत्रियों, विभिन्न विभागों और एजेंसियों के शीर्ष अधिकारियों को निर्देश दिए थे. बैठक में राष्ट्रीय राजधानी में रेस्तरां उद्योग के आर्थिक पुनरुद्धार के लिए विभिन्न निर्णय लिए गए. Also Read - गुजरात से BJP के राज्यसभा सांसद अभय भारद्वाज का कोरोना संक्रमण से निधन, PM मोदी ने जताई संवेदना

दिल्ली में रेस्तरां उद्योग के विकास को बाधित करने वाले नियमों और अनुमोदनों को आसान बनाने के लिए एनआरएआई से एक विस्तृत प्रतिनिधित्व प्राप्त किया गया था. पर्यटन विभाग द्वारा स्टैंडअलोन रेस्तरां को मंजूरी देने की अधिसूचना इसी बैठक के मद्देनजर जारी की गई है, जो रेस्तरां उद्योग को राहत प्रदान करेगी, उनके आर्थिक विकास और उद्योग में रोजगार सृजन को प्रोत्साहन मिलेगा.

(इनपुट-आईएएनएस)