लंदन: विश्व प्रसिद्ध वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग ब्रह्मांड जगत में कई और ब्रह्मांडों की मौजूदगी का पता लगाने के लिए अपने पीछे कुछ संकेत छोड़ गए हो सकते हैं. मीडिया की एक रिपोर्ट में कहा गया कि हॉकिंग द्वारा अपनी मौत से पहले जमा किए गए अंतिम शोध पत्र में हमारे ब्रह्मांड के अलावा कुछ और ब्रह्मांडों के मौजूद होने के सुराग मिल सकते हैं. Also Read - एक्सरसाइज हर साल 40 लाख मौतों को समय से पहले होने से है रोकता, शोध में आई ये बात सामने

Also Read - कोरोना नवंबर महीने में होगा अपने चरम पर, रिसर्च का दावा- ICU बेड्स और वेंटिलेटर्स की हो जाएगी कमी

विश्व के सुप्रसिद्ध वैज्ञानिकों में से एक हॉकिंग ने अंतरिक्ष की उस खोज के लिए जरूरी गणित तैयार कर लिया था, जिसके जरिए कई ब्रह्मांडों की मौजूदगी के प्रायोगिक सबूत खोजे जा सकते हैं. बता दें कि 14 मार्च को 76 वर्षीय हॉकिंग का निधन हो गया था. ‘द संडे टाइम्स’ की खबर के मुताबिक शोधपत्र में उस विचार को साबित करने का प्रयास किया गया है कि हमारा ब्रह्मांड कई ब्रह्मांडों में से केवल एक है और ऐसे कई और ब्रह्मांड मौजूद हैं. Also Read - वैज्ञानिकों ने भारत में अलग तरह के कोरोना का पता लगाया, वायरस का एक अनूठा ग्रुप मिला

यह भी पढ़ें: जिस बीमारी के कारण हुई स्‍टीफन हॉकिंग की मौत, जानें कैसे होती है और क्‍या हैं लक्षण

बेल्जियम की केयू ल्युवन यूनिवर्सिटी में थियोरेटिकल फिजिक्स के प्रोफेसर और शोधपत्र के सह- लेखक थॉमस हर्टोग ने कहा, यह थे स्टीफन जो निर्भीकता से वहां तक पहुंचते थे, जहां स्टार ट्रेक भी आगे बढ़ने से खौफ खाता है. उन्हें अक्सर नोबेल के लिए नामित किया जाता था और वह इसे जीत भी जाते. लेकिन अब वह ऐसा कभी नहीं कर पाएंगे. शोधपत्र ‘अ स्मूद एग्जिट फ्रॉम इटर्नल इंफ्लेशन’ की समीक्षा फिलहाल एक प्रमुख पत्रिका द्वारा की जा रही है. हॉकिंग के इस शोधपत्र में यह भी अनुमान लगाया गया है कि हमारे ब्रह्मांड के सारे सितारों की ऊर्जा समाप्त हो जाएगी और अंतत: वह अंधेरे में लुप्त हो जाएगा.

बता दें कि बिग बैंग थ्‍योरी के साथ ब्रह्मांड को लेकर लोगों की धारणा बदलने वाले स्‍टीफन हॉकिंग का 14 मार्च को देहांत हो गया. वह 76 साल के थे. हॉकिंग का जन्‍म 8 जनवरी 1942 को हुआ था. स्‍टीफन हॉकिंग की मौत मोटर न्‍यूरॉन नाम की एक बीमारी के कारण हुई है. एक ऐसी बीमारी जिसमें सारे अंग काम करना बंद कर देते हैं. यही वजह है कि आपने स्‍टीफन को हमेशा व्‍हील चेयर पर ही देखा होगा.

(पीटीआई इनपुट)