नई दिल्‍ली: राष्‍ट्रीय राजधानी के उत्तर पूर्वी दिल्ली के कुछ इलाकों में तीसरे दिन मंगलवार को भी हिंसा की घटनाएं सामने आ रहीं हैं. भजनपुरा चौक के पास दो गुटों के बीच पथराव हुआ है. वहीं, गोकुलपुरी में दो दमकल वाहनों को क्षति पहुंचाई गई, मौजपुर में एक बाइक आग के हवाले कर दी गई है. गृह मंत्री अमित शाह द्वारा बुलाई गई बैठक में दिल्ली में सभी इलाकों में शांति समितियां फिर से शुरू करने का निर्णय लिया गया है. करावल नगर की सड़क- यातायात के लिए दोनों मार्ग बंद हैं. Also Read - कोरोनावायरसः पुलिस ने खाली कराया शाहीन बाग, सौ दिन से चल रहा था CAA के खिलाफ प्रोटेस्ट

दिल्ली: खजूरी ख़ास में पुलिस और आरएएफ तैनात हैं, जहां कल हिंसा और आगजनी हुई थी। धारा 144 लगा दी गई है. खजूरी खास इलाके में पुलिस और आरएएफ ने फ्लैग मार्च किया. Also Read - दिल्‍ली के शाहीन बाग धरनास्थल पर फेंका गया पेट्रोल बम

गोकुलपुरी में दो दमकल वाहनों को नुकसान पहुंचाया, मौजपुर में एक बाइक आग के हवाले
उत्तर पूर्वी दिल्ली के गोकुलपुरी में दंगाइयों ने दो दमकल वाहनों को क्षति पहुंचाई. अग्निशमन विभाग के अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि उत्तर पूर्वी दिल्ली के कुछ इलाकों में हिंसा जारी है. उन्होंने बताया कि नारे लगाती भीड़ ने मौजपुर में एक बाइक को भी आग के हवाले कर दिया है.

बता दें कि मौजपुर में संशोधित नागरिकता कानून के विरोधियों और समर्थक समूहों के बीच हिंसा में सोमवार को सात लोगों की जान चली गई और करीब 150 लोग घायल हो गए.

उत्तर पूर्वी दिल्ली के मौजपुर इलाके में हिंसा जारी
उत्तर पूर्वी दिल्ली के मौजपुर इलाके में मंगलवार को भी हिंसा जारी रही। दो समूहों के लोग लाठियां और छड़ लेकर सड़कों पर निकले. मौजपुर में आक्रोशित भीड़ ने भड़काऊ नारे लगाते हुए एक मोटरसाइकिल में आग लगा दी. दमकल की एक गाड़ी को भी घटनास्थल की ओर जाते देखा गया. हालांकि, इलाके में तैनात सुरक्षाकर्मियों से ज्यादा भीड़ मौजूद थी. मीडिया कर्मियों से भी धक्कामुक्की हुई और उन्हें घटनास्थल से खदेड़ दिया गया.

दिल्ली हिंसा पर गृह मंत्री अमित शाह ने की उच्चस्तरीय बैठक
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसा के बाद राष्ट्रीय राजधानी में हालात पर चर्चा करने के लिए मंगलवार को उच्चस्तरीय बैठक की, जिसमें पुलिस-विधायक समन्वय मजबूत करने और अफवाहों के प्रसार को रोकने का संकल्प लिया गया. उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सीएए को लेकर प्रदर्शन के दौरान हिंसा भड़कने के बाद दिल्ली में मौजूदा स्थिति पर चर्चा करने के लिए यह बैठक बुलाई गई थी.

इन कदमों पर दिया जोर
– शांति बहाली के लिए राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं के हाथ मिलाने और सभी इलाकों में शांति समितियों को फिर से सक्रिय करने का भी संकल्प लिया गया
– बैठक में शामिल सभी लोगों ने इस बात पर जोर दिया कि अफवाहों के प्रसार को रोका जाना चाहिए
– नेताओं ने कहा कि पुलिस-विधायक समन्वय को मजबूत किए जाने की जरूरत है और विभिन्न राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं को आपस में हाथ मिलाना चाहिए, जिससे कि शहर में शांति बहाल हो सके

बैठक में ये रहे मौजूद
– बैठक में उपराज्यपाल अनिल बैजल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, दिल्ली के पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक, कांग्रेस नेता सुभाष चोपड़ा, भाजपा के नेता मनोज तिवारी और रामवीर बिधूड़ी भी शामिल हुए.

दिल्‍ली में हिंसा में अब तक 7 मौते हुई
– सोमवार को उत्तर पूर्वी दिल्ली में अलग-अलग स्थानों पर हुई हिंसा में एक हेड कॉन्स्टेबल सहित सात लोग मारे गए
– दिल्ली में हुई हिंसा में कम से कम 150 लोग घायल हो गए
– घायलों में अर्धसैनिक बल और दिल्ली पुलिस के कई कर्मी भी शामिल हैं
– उग्र प्रदर्शनकारियों ने भारी पथराव के साथ ही घरों, दुकानों, वाहनों और एक पेट्रोल पंप को आग लगा दी थी