नई दिल्ली: गुरुग्राम में मंगलवार को भारी बारिश के चलते यातायात प्रभावित हुआ और सामान्य जनजीवन पर भी इसका असर देखने को मिला है.सड़कों पर जलभराव के कारण गाड़ियां जाम में फंसीं रहीं. ऑफिस और स्कूल जाने वाले लोगों को काफी परेशानी हुई. राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के उप निदेशक ए.आर.एस. सांगवान ने बताया कि सोमवार देर रात दो बजे हल्की बारिश होनी शुरू हुई, लेकिन सुबह चार बजे तेज बारिश होने लगी, जोकि सुबह छह से आठ बजे के बीच भारी बारिश में बदल गई. सहायक पुलिस आयुक्त हीरा सिंह ने बताया कि जलभराव के कारण दिल्ली-जयपुर-मुंबई राजमार्ग पर यातायात बुरी तरह से प्रभावित हुआ है. उन्होंने कहा कि टीम परिवहन संचालन को पटरी पर लाने की कोशिश कर रही है.

वहीं राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सोमवार रात कई इलाकों में जोरदार बारिश हुई. मौसम में हुए अचानक बदलाव की वजह से शहर के कुछ हिस्सों में तेज हवाओं के साथ बारिश हुई. बारिश की वजह से सड़कों पर पानी भर गया. इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा और धौलाकुंआ जैसे एरिया में सड़कों पर पानी जमा हो गया. भारी बारिश की वजह से पालम मोड़ एरिया में भी सड़कें पानी से भर गईं.

राजस्थान में पिछले 24 घंटों के दौरान अलवर के कोटकासिम में मूसलाधार बारिश हुई जबकि राज्य के पूर्वी भाग के कुछ क्षेत्रों में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज की गई जबकि पश्चिमी भाग सूखा रहा. सोमवार सुबह 8.30 बजे तक अलवर के कोटकासिम में 14 सेंटीमीटर, तिजारा में 14 सेंटीमीटर, भरतपुर में पहाडी में 5 सेंटीमीटर, अलवर के टपूकडा में 5 सेंटीमीटर धौलपुर के राजाखेडा में 2 सेंटीमीटर, डूंगरपुर के वेजा में 2 सेंटीमीटर, अलवर के किशनगढवास में 1 सेंटीमीटर, अलवर में 1 सेंटीमीटर, माउंट आबू में 1 सेंटीमीटर, भरतपुर में 1 सेंटीमीटर बांसवाडा के जगपुरा में 1 सेंटीमीटर, बागीडोरा में 1 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई. विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान प्रदेश के पूर्वी भागों के कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना जताई है.