हरियाणा के रोहतक जिले में एक दर्दनाक वारदात हुई है. दरअसल, यहां स्थिति आईटीआई के एक छात्र को अपने इंस्ट्रक्टर पर इस बात का संदेह था कि उसका, उसकी मां (छात्र की मां) के साथ अफेयर चल रहा है. इससे नाराज किशोर ने इंस्ट्रक्टर की पीट-पीटकर हत्या कर दी. 28 वर्षीय इंस्ट्रक्टर मुनीष कुमार जिंद जिले के फुलियान कलान गांव का रहने वाला था. वह रोहतक जिले के कांसला गांव में स्थित आईटीआई में कार्यरत था. वह रोहतक में एक किराये के घर में रह रहा था.

पुलिस के मुताबित 18 वर्षीय आरोपी ने छह जनवरी को पीट-पीटकर मुनीष की हत्या कर दी. उसने इंस्ट्रक्टर के शव को पानीपत जिले के उर्लाना गांव के पास नहर में फेंक दिया. इसके बाद मुनीष के परिजनों ने 8 जनवरी को पुलिस थाने में उसके लापता होने की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी. पुलिस ने इसकी जांच शुरू की तो मामले का खुलासा हुआ. मुनीष के भाई राजेंद्र ने पुलिस से कहा था कि उसका भाई 6 जनवरी को आईटीआई गया था लेकिन लौटकर घर नहीं आया. पुलिस ने बताया कि मुनीष के मोबाइल फोन के कॉल रिकॉर्ड के आधार उसने 18 साल के युवक विकास कुमार को गिरफ्तार किया.

मामले की जांच कर रहे एएसआई सुरेंदर सिंह ने बताया कि कड़ाई से पूछताछ के दौरान विकास ने हत्या की बात स्वीकार कर ली. पुलिस ने विकास के निशानदेही पर शव भी बरामद कर लिया है. सुरेंदर सिंह के मुताबिक विकास ने इंस्ट्रक्टर की हत्या की बात स्वीकार कर ली है. उसने अपनी मां के साथ मुनीष के कथित अफेयर कारण ऐसा किया. पुलिस को लगता है कि इस हत्याकांड में विकास के अलावा कुछ और लोग शामिल हो सकते हैं. पुलिस ने विकास को तीन दिन की रिमांड पर लिया है.