नई दिल्ली: कांग्रेस ने सीनियर लीडर सुभाष चोपड़ा को दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी का नया अध्यक्ष बनाया है. इसके साथ ही कीर्ति आज़ाद को प्रदेश की प्रचार समिति के प्रभारी के तौर पर जिम्मेदारी सौंपी गई है. कांग्रेस ने इसे लेकर एक प्रेस नोट जारी कर घोषणा की है. बताया जा रहा है कि ये फैसला कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने लिया है.

अध्यक्ष पद शीला दीक्षित के निधन के बाद खाली चल रहा था. कांग्रेस अध्यक्ष ने दोनों नेताओं को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है. 2020 में दिल्ली में विधानसभा चुनाव होने हैं. कांग्रेस ने चुनाव के मद्देनजर ये फैसला लिया है.

सुभाष चोपड़ा दिल्ली की कालका जी विधानसभा सीट से विधायक रहे हैं. कीर्ति आज़ाद लोकसभा चुनाव 2019 से ठीक पहले कांग्रेस में शामिल हुए थे. कीर्ति बिहार की दरभंगा सीट से बीजेपी के सांसद थे. कीर्ति आज़ाद के पिता भागवत झा आज़ाद कांग्रेस में थे. वह बिहार के सीएम भी रहे थे. इन दोनों पदों के लिए कई नाम दौड़ में थे, लेकिन पार्टी ने सुभाष चोपड़ा और कीर्ति आज़ाद पर भरोसा दिखाया है.