नई दिल्ली: भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने एयर इंडिया की 100 प्रतिशत हिस्सेदारी को बेचे जाने को लेकर सरकार के कदम पर एतराज जताया है. स्वामी में ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी. स्वामी ने लिखा कि उन्हें अदालत का रुख करने के लिए मजबूर किया जा रहा है. स्वामी ने सरकार के इस कदम को राष्ट्र विरोधी भी बताया है. गौरतलब है कि कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल भी इस बाबत बयान दे चुके हैं. सिब्बल ने कहा है कि सरकार के पास पैसा नहीं हैं इसलिए वह सारी संपत्तियां बेच रही है.

स्वामी ने ट्वीट में लिखा कि एयर इंडिया के विनिवेश की प्रक्रिया आज से फिर शुरू हो गई हैं. यह सौदा पूरी तरह से राष्ट्रीय मामला है और मैं इसके लिए कोर्ट जाने के लिए तैयार हूं. इस बीच, कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने भी एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में सरकार पर निशाना साधा और कहा, “जब सरकारों के पास पैसा नहीं है तो वे ऐसा ही करती हैं. भारत सरकार के पास पैसा नहीं है, विकास 5% से कम है और लाखों रुपये मनरेगा में बकाया है. इसमे वो हमारे सभी मुल्यवान संपत्तियों को बेच ही सकते हैं.

बता दें कि सरकार ने सोमवार को कर्ज से ग्रस्त एयर इंडिया में 100 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने की घोषणा की क्योंकि उसने 17 मार्च तक निर्धारित ब्याज की अभिव्यक्ति के लिए समय सीमा के साथ रणनीतिक विनिवेश के लिए प्रारंभिक बोली दस्तावेज जारी किया था. रणनीतिक विनिवेश के हिस्से के रूप में, एयर इंडिया कम लागत वाली एयरलाइन एयर इंडिया एक्सप्रेस में 100 प्रतिशत हिस्सेदारी और संयुक्त उद्यम एआईएसएटीएस में 50 प्रतिशत हिस्सेदारी की बिक्री करेगी, जो सोमवार को जारी बोली दस्तावेज के अनुसार होगा.