चंडीगढ़: भाजपा के राज्यसभा सदस्य सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) को भारत में मिलाया जाना चाहिए. उन्होंने दावा किया कि पीओके में रहने वाले लोग पाकिस्तान में नहीं रहना चाहते और भारतीय बनना चाहते हैं. स्वामी के इस बयान का चंडीगढ़ से भाजपा की लोकसभा सदस्य किरण खेर और पंजाब के पूर्व पुलिस प्रमुख सुमेध सिंह सैनी ने समर्थन किया.

 

स्वामी ने ‘वेकेशन ऑफ पीओके’ विषयक संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि पीओके को हमारे साथ शामिल होना चाहिए. उन्होंने कहा कि पीओके में रहने वाले लोग पाकिस्तान के खिलाफ रोजाना प्रदर्शन और विरोध कर रहे हैं. स्वामी ने दावा किया कि वे पाकिस्तान में नहीं रहना चाहते. वे कह रहे हैं कि उन्हें भारत का हिस्सा बनने में कोई आपत्ति नहीं है. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पर निशाना साधते हुए उन्हें ‘चपरासी’ कहा. उन्होंने कहा कि भारत को खान के साथ कोई बातचीत नहीं करनी चाहिए.

स्वामी ने पाकिस्तान को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि उन्होंने परमाणु बम की धमकी देकर भारत को डराने की कोशिश की. उन्होंने कहा कि अब कुछ नहीं सुनाई दे रहा. एटम बम कहां गया? इसका बटन अमेरिका के पास है. मैं इसे (पीओके को) गुलाम कश्मीर कहता हूं और हमें इसे मुक्त कराना है. इस मौके पर किरण खेर ने कहा कि पीओके में मानवाधिकार उल्लंघन हो रहे हैं. उन्होंने विश्वास जताया कि यह क्षेत्र एक दिन भारत का हिस्सा होगा. शनिवार को जन्माष्टमी के अवसर पर किरण खेर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की तुलना ‘भगवान कृष्ण’ और ‘अर्जुन’ से की.