नई दिल्ली: आईआईटी, एनआईटी, ट्रिपल आईटी सहित सरकारी सहायता प्राप्त इंजीनियरिंग संस्थानों में प्रवेश के लिए जॉइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन की शुरुआत होने में अब करीब 10 दिन ही बचे हैं. देश की सबसे कठिन प्रवेश परीक्षा मानी जाने वाली जेईई में आवेदन करने वाले 1 फीसदी से कम छात्र ही सिलेक्ट हो पाते हैं. पूरे साल इसकी तैयारियों में जुटे परीक्षार्थियों के लिए यह समय बेहद महत्वपूर्ण है. उन्हें अपनी तैयारियों को फाइनल शेप देना है. इंडिया डॉट कॉम से खास बातचीत में सुपर 30 के संस्थापक और आईआईटी गुरु माने जाने वाले आनंद कुमार ने इसके लिए खास टिप्स दिए हैं. Also Read - कमाल है: 5वीं, 8वीं क्लास के भाई-बहन पढ़ा रहे JEE Mains के सवाल, सुपर 30 के आनंद कुमार भी प्रभावित

Also Read - 'सुपर 30' को हुए एक साल, ऋतिक रोशन का ये वीडियो इमोशनल कर देगा

आनंद कुमार का कहना है कि अंतिम 10 दिनों में छात्रों को नए टॉपिक्स पर ध्यान नहीं देना चाहिए. उन्हें सिलेबस के उस हिस्से को ज्यादा समय देना चाहिए, जिसकी तैयारी वो पहले से कर चुके हैं. पिछले सालों के क्वेश्चन पेपर्स को जरूर देखें, लेकिन यह याद रखें कि जेईई में कभी प्रश्न रिपीट नहीं किए जाते. पुराने पेपर्स देखकर यह अंदाजा लगा सकते हैं कि इस बार कैसे प्रश्न पूछे जा सकते हैं. Also Read - साइकिल वाली ज्योति को सुपर 30 के आनंद कुमार का तोहफा, कहा- IIT परीक्षा की तैयारी करवाना सौभाग्य की बात

पूरी बातचीत के लिए देखें वीडियो…

आनंद कुमार ने बताया कि छात्रों के लिए अंतिम समय में हर टॉपिक के डिटेल में जाना संभव नहीं है. इसलिए आपने पहले से जो प्वॉइंट्स बनाए हैं, उनको रिवाइज करें. अपनी कमजोरियों पर ध्यान देने के बजाय मजबूत पक्ष को और स्ट्रॉन्ग करें.

यह भी पढ़ें: Exclusive: ‘Super 30’ के लिए ऋतिक रोशन ही क्यों बने आनंद कुमार की पहली पसंद, 8 साल का लगा था लंबा वक्त

आनंद कुमार ने यह भी कहा कि परीक्षार्थियों के लिए सबसे जरूरी होता है अपना आत्मविश्वास बनाए रखना और किसी तरह के दबाव में नहीं आना. इसके लिए आवश्यक है कि पढ़ाई के बीच नियमित ब्रेक लें और ब्रेक के दौरान मस्तिष्क से परीक्षा को पूरी तरह निकाल दें. दोस्तों से मिलें, बातचीत करें, टीवी देखें, फिल्में देखें या फिर आसपास घूमें. इसके बाद जब दोबारा पढ़ाई के लिए बैठेंगे तो खुद को पहले से ज्यादा रिफ्रेश महसूस करेंगे.

यह भी पढ़ें: सुपर 30 का 16वां सालः डेढ़ दशक से 90/100 का अटूट रिजल्ट

इस साल जेईई परीक्षा पेन और पेपर मोड में 8 अप्रैल को आयोजित होगी जबकि कंप्यूटर बेस्ड परीक्षा 15 और 16 अप्रैल को होगी.