नई दिल्ली. उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) ने मंगलवार को सीबीआई के विशेष जांच दल (SIT) से पूर्व सीबीआई प्रमुख रंजीत सिन्हा (Ranjit Sinha) के खिलाफ जांच में नई स्थिति रिपोर्ट पेश करने को कहा. सिन्हा के खिलाफ “आधिकारिक स्थिति के दुरुपयोग” और कोयला घोटाले के मामलों की जांच को बाधित करने के आरोप हैं. न्यायालय ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और सीबीआई से भी कहा कि वे कोयला घोटाले के लंबित मामलों और उनकी सुनवाई के चरणों के बारे में अद्यतन स्थिति रिपोर्ट पेश करें. Also Read - No Parking No Car: दिल्ली मे कार लेने से पहले दिखाने होंगे पार्किंग के सबूत वरना नई कार के लिए करना पड़ेगा 15 साल का इंतजार

न्यायमूर्ति एम.बी. लोकुर की अध्यक्षता वाली एक विशेष पीठ ने सिन्हा के खिलाफ आरोपों की जांच के बारे में एसआईटी को स्थिति रिपोर्ट पेश करने को कहा. विशेष पीठ कोयला घोटाले के मामलों में सीबीआई और ईडी की जांच की निगरानी कर रही है. पीठ में न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ और न्यायमूर्ति ए.के. सीकरी भी शामिल हैं. Also Read - प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के लिए पर्याप्त नियमन मौजूद, डिजिटल मीडिया का नियमन पहले हो: केंद्र

पीठ ने कहा कि सिन्हा के खिलाफ जांच में स्थिति रिपोर्ट 15 जनवरी, 2018 तक है. पीठ ने 31 दिसंबर, 2018 तक की रिपोर्ट 15 जनवरी 2019 को या उससे पहले दायर करने को कहा. कोयला घोटाले के मामलों के लिए शीर्ष अदालत द्वारा विशेष सरकारी अभियोजक (एसपीपी) नियुक्त किए गए वरिष्ठ वकील आर.एस. चीमा ने कहा कि वह एसआईटी की नवीनतम स्थिति रिपोर्ट दाखिल करेंगे. Also Read - सुप्रीम कोर्ट ने टीवी शो पर लगाई फटकार, कहा- अन्य नागरिक के जैसा है पत्रकार, अमेरिका की तरह कोई अलग से स्वतंत्रता नहीं