नई दिल्ली. चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों को साजिश बताने वाले वकील उत्सव बैंस के दावों की जांच की जिम्मेदारी मिलने के बाद रिटायर्ड जज एके पटनायक ने कहा है कि वह मामले की सच्चाई सामने लाएंगे. इसके साथ ही उन्होंने इस सनसनीखेज दावों की सच्चाई जानने के लिए एक योजना भी तैयारी की है. Also Read - Diwali Bonus: लॉकडाउन के दौरान समय पर EMI चुकाने वालों को कैशबैक देगी सरकार, जानें क्या है पूरा मामला

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए जस्टिस पटनायक ने कहा, ‘मैं सच्चाई खोजूंगा’. उन्होंने कहा कि उनके पास एक मोटा-मोटी प्लान है, जिससे वह उत्सव बैंस के आरोपों की जांच करेंगे. Also Read - Bank loan Interest Relief: कर्जदारों को केंद्र सरकार का बड़ा दिवाली तोहफा, बैंक से इतने रुपये तक का कर्ज लेने वालों को ब्याज में दी राहत

बता दें कि जस्टिस अरुण मिश्रा, आरएफ नरीमन और दीपक गुप्ता की एक बेंच ने गुरुवार को इस केस को जस्टिस पटनायक को सौंपा था. इसके साथ ही बेंच ने सीबीआई, आईबी के निदेशकों और दिल्ली पुलिस को निर्देश दिया था कि वे जांच के दौरान आवश्यकता पड़ने पर जस्टिस पटनायक के साथ हर तरह से सहयोग करें. Also Read - Loan Moratorium Update: लोन मोरेटोरियम के दौरान कर्ज पर ब्याज छूट को लेकर वित्त मंत्रालय ने जारी किया यह दिशानिर्देश

एफिडेविट के हिसाब से चलेंगे
जस्टिस पटनायक ने कहा, वह वकील के ऐफिडेविट के हिसाब से चलेंगे. इसके साथ ही आरोपों की जांच को आगे बढ़ाने के लिए एक रफ प्लान के बारे में सोचा है. इन-हाउस पैनल के टास्क पूरा करने के तुरंत बाद मैं जांच एजेंसियों से उस रफ प्लान को धार देने के लिए बात करूंगा और सुप्रीम कोर्ट द्वारा मुझे दिए टास्ट को तेजी से आगे बढ़ाऊंगा.

आरोप के सतह तक पहुंचुंगा
उन्होंने कहा, मैं सच को खोजूंगा और आरोप के सतह तक पहुंचुंगा. यदि लगाए गए आरोप सही साबित होते हैं तो दोषियों को कटघरे में लाया जाएगा. एक संवैधानिक कोर्ट के जज के 20 साल के अपने अनुभव और उतने ही समय के एक वकील के अनुभव जिसमें मैंने कई तरह के क्रिमिनल केस को हैंडल किया है वह इस केस को सॉल्व करने में मेरी मदद करेंगे.