नई दिल्ली: आपने शायद ही सुप्रीम कोर्ट के किसी जज को किसी कार्यक्रम में गाना गाते सुना हो. बाढ़ से तबाह हुए केरल के लोगों के लिए राहत और पुनर्वास के लिए फंड जमा करने के मकसद से आयोजित एक कार्यक्रम में सुप्रीम कोर्ट के दो जजों ने गाना गया. यह कार्यक्रम सुप्रीम कोर्ट कवर करने वाले पत्रकारों ने आयोजित किया था. केरल से ताल्लुक रखने वाले जज कुरियन जोसेफ और न्यायमूर्ति के एम जोसेफ ने सुप्रीम कोर्ट परिसर के सामने इंडियन सोसाइटी फॉर इंटरनेशनल लॉ के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में प्रस्तुति दी.

इस कार्यक्रम में भारत के प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा और शीर्ष अदालत और दिल्ली हाईकोर्ट के कई जजों ने शिरकत की.प्रधान न्यायाधीश ने कहा कि यह एक काम के लिए संगठित प्रयास है. उन्होंने कहा, ‘ कुछ लोगों को लग सकता है कि यह जश्न है क्योंकि कुछ प्रस्तुतियां दी गई हैं लेकिन मैं कहना चाहूंगा कि नेक काम के लिए योगदान इकट्ठा करने के लिए ऊर्जा खोजने का एक संगठित प्रयास है.

हाल में तरक्की पाकर उच्चतम न्यायालय में आए न्यायमूर्ति के एम जोसेफ ने मलयालम फिल्म ‘अमाराम’ का गाना गाया जो एक मछुआरे की कहानी बयां करता है. वहीं न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ और पार्श्वगायक मोहित चौहान ने ‘वी शैल ओवरकम समडे’ गाना गाया.इस कार्यक्रम से 10 लाख रुपये से ज्यादा की रकम इकट्ठा की गई है. इस कार्यक्रम में कुछ पत्रकारों ने भी प्रस्तुति दी. सुप्रीम कोर्ट के हर जज ने केरल मुख्यमंत्री राहत कोष में 25-25 हजार रुपए का योगदान दिया.

सुप्रीम कोर्ट के स्टाफ ने एक दिन की सैलरी केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए देने का एलान किया है. अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल राव ने केरल बाढ़ राहत कोष में एक करोड़ का योगदान दिया है. केके वेणुगोपाल राव के बेटे और सीनियर वकील कृष्ण वेणुगोपाल राव ने 15 लाख रुपए का योगदान दिया. वहीं पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए 50 लाख रुपए देने का एलान किया है. दिल्ली स्थित मलयाली वकीलों के एक समूह ने केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए कपड़े, सैनिटरी नैपकिन, मोमबत्तियां, बच्चों के आहार, पानी की बोतलें और दवाइयों सहित आवश्यक आपूर्ति से भरे आठ ट्रक केरल भेजे हैं.

न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत सामग्री सुनिश्चित करने और व्यवस्थित करने में सक्रिय रहे. वरिष्ठ वकील जयदीप सिंह ने पांच लाख, जबकि सीनियर वकील चंदर उदय सिंह ने पांच लाख रुपये का योगदान दिया.16 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन ने अपने आपदा राहत निधि से 30 लाख रुपये दान किए थे. केरल में 100 सालों में आई सबसे भयंकर बाढ़ में 443 लोगों की मौत हुई है. वहीं 14 जिलों के 54.11 लाख लोग गंभीर रूप से प्रभावित हुए हैं. केरल को देश भर में विभिन्न राज्य सरकारों से वित्तीय सहायता मिल रही है.