महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस को विधानसभा चुनाव से पहले बड़ा झटका लगा है. दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि देवेंद्र फड़णवीस को चुनावी शपथ पत्र में दो आपराधिक मामलों के लंबित रहने की बात कथित रूप से छिपाने के मामले में सुनवाई का सामना करना होगा. सुप्रीम कोर्ट ने ट्रायल कोर्ट व हाईकोर्ट के क्लीन चिट देने के फैसले को निरस्त करते हुए कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस को सुनवाई का सामना करना होगा. गौरतलब है कि इससे पहले ट्रायल कोर्ट व हाईकोर्ट ने देवेंद्र फड़णवीस को इस मामले में क्लीन चिट दे दी थी. अब सुप्रीम कोर्ट ने ट्रायल कोर्ट को निर्देश दिया है वह फड़णवीस के खिलाफ शिकायत पर नए सिरे से विचार करे.

बता दें कि फड़णवीस पर आपराधिक मामलों के छिपाने का मामला 2014 महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के दौरान का है. याचिकाकर्ता सतीश उके ने याचिका दाखिल करते हुए उन पर आरोप लगाया था कि उन्होंने 2014 विधानसभा में अपने ऊपर लंबित 2 आपराधिक मुकदमों की जानकारी छुपाई. हालांकि तब बॉम्बे हाईकोर्ट ने याचिका खारिज कर दी थी.

याचिकाकर्ता ने कहा था कि 2014 महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों के दौरान देवेंद्र फड़णवीस ने चुनाव आयोग में दाखिल अपने हलफनामे में उनके खिलाफ दर्ज दो आपराधिक मामलों को नहीं दर्शाया था. जिसके बाद याचिकाकर्ता ने फड़णवीस के चुनाव को रद्द करने की मांग की थी. हालांकि बॉम्बे हाईकोर्ट ने उनकी याचिका रद्द कर दी थी. आपको बता दें कि महाराष्ट्र में 2019 विधानसभा चुनाव 21 अक्टूबर को होने हैं.