नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में आज भगदड़ मच गई. ये तब हुआ जब एक लावारिस बैग से बीप-बीप की आवाज़ आने लगी. लोगों को ये बम के अलार्म की आवाज़ लगी. भ्रम फैलते ही लोग इधर-उधर भागने लगे. कुछ देर के लिए सुप्रीम कोर्ट में अफरातफरी मच गई, लेकिन फिर मामला कुछ और ही निकला.

मामला सुप्रीम कोर्ट की अदालत 4 के बाहर के क्षेत्र का है. यहां एक लावारिस बैग रखा हुआ. अचानक उससे बीप बीप की आवाज़ आने लगी. लोगों को लगा कि ये बम के फटने से पहले अलार्म लगे होने की आवाज़ है. इतने में यहां अफरातफरी मच गई. कोर्ट में बम होने की अफवाह फैल गई. आवाज सुनने के बाद सुरक्षाकर्मी तत्काल हरकत में आ गए और उन्होंने अदालत 4 के बाहर के क्षेत्र को घेर लिया.

#PulwamaAttack: पुलवामा हमले से सदमे में था पूरा देश, आज के दिन ही सपूतों ने दी थी शहादत

सुरक्षाकर्मी बैग को एक सुनसान इलाके में ले गए. बैग को सुनसान इलाके में खाली किया गया. खाली करने पर पाया गया कि बीप की आवाज पावर बैंक से आ रही थी. उन्होंने बताया,‘‘हमने पावर बैंक सहित लावारिस बैग को नियंत्रण कक्ष में जमा करा दिया है.’ इस घटना से न्यायालय की कार्यवाही में बाधा नहीं पहुंची. दरअसल पॉवर बैंक मोबाइल चार्ज करने के काम आती है. डिस्चार्ज होने पर इससे बीप की आवाज़ आती है.

बता दें कि पुलवामा हमले (Pulwama Attack) की पहली बरसी भी है. लोग शहीद हुए जवानों को याद कर रहे हैं. 14 फरवरी 2019 को जम्मू से श्रीनगर की तरफ सीआरपीएफ (CRPF) के जवानों का एक काफिला आ रहा था. इस काफिले में करीब 38 से 40 गाड़ियां शामिल थीं. जिसमें सीआरपीएफ (CRPF) के 2 हज़ार 500 जवान सवार थे. दोपहर करीब साढ़े तीन बजे पुलवामा के अवंतिपुरा इलाके के पास इस काफिले में शामिल एक बस हमले की चपेट में आ गई. एक आतंकी ने विस्फोटक से भरी एक कार से जवानों की एक बस में टक्कर मार दी थी. इसके साथ ही एक भयानक विस्फोट हुआ. और सीआरपीएफ की बस के टुकड़े-टुकड़े हो गए. इस बस में सीआरपीएफ (CRPF) की अलग-अलग बटालियन के जवान थे. घटना को अंजाम देने के लिए करीब 200 किलो विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया था.