नई दिल्ली: एसएससी प्रश्नपत्र लीक होने के मामले की जांच सीबीआई करेगी. इस बारे में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने एक ट्वीट कर कहा कि सरकार ने आंदोलन कर रहे छात्रों की मांग को मान लिया है और मामले की सीबीआई जांच का आदेश दिया जा चुका है. राजनाथ सिंह ने इसके साथ ही छात्रों से आंदोलन खत्म करने की अपील की है. इस बीच मामले की जांच को लेकर सुप्रीम कोर्ट में भी एक याचिका दाखिल की गई है, जिस पर शीर्ष अदालत 12 मार्च को सुनवाई करेगी. वहीं इस मामले की गूंज सोमवार को संसद में भी सुनाई दी है. लोकसभा में जन अधिकार पार्टी के प्रमुख पप्पू यादव ने स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है.Also Read - राजनीतिक बदले के लिए CBI, NCB और आयकर विभाग जैसी संस्थाओं का दुरुपयोग कर रही है केंद्र सरकार : शरद पवार

Also Read - एसबीआई से 862 करोड़ रुपये ठगने के आरोप में CBI ने मुंबई की IT इंफ्रा कंपनी पर मारा छापा

Also Read - Ranjit Singh Murder Case में गुरमीत राम रहीम सहित 5 दोषियों की सजा का आज होगा ऐलान, सुरक्षा कड़ी

इससे पहले कर्मचारी चयन आयोग ने मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश करने का निर्णय लिया था. एसएससी प्रमुख असीम खुराना ने एक बयान में कहा था कि कथित पेपर लीक के विरोध में प्रदर्शन कर रहे अभ्यर्थियों का एक प्रतिनिधिमंडल उनसे मिला और एक ज्ञापन सौंपा जिसमें छात्रों ने एसएससी पेपर लीक मामले की जांच सीबीआई से करवाने की मांग की, जिसके बाद उन्होंने सीबीआई जांच की सिफारिश का फैसला किया.

बता दें कि छात्रों ने 17 से लेकर 22 फरवरी तक आयोजित हुई परीक्षा में प्रश्नपत्रों के लीक होने के मामले में सीबीआई जांच की मांग की थी. बयान में कहा गया कि आयोग ने 21 फरवरी को हुई परीक्षा के प्रश्नपत्र-1 के प्रश्न लीक होने से जुड़े आरोपों की सीबीआई जांच की सिफारिश कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग से करने पर सहमति जताई है. यह भी पढ़ें: SSC ने मानी छात्रों की मांग, CBI जांच की सिफारिश का फैसला किया

दिल्ली में एसएससी दफ्तर के बाहर लंबे समय से चल रहे छात्रों के इस प्रदर्शन को अब अन्ना हजारे का साथ भी मिल गया है. रविवार को अन्ना हजारे सीजीओ कॉम्प्लेक्स पहुंचे और विरोध प्रदर्शन में शामिल एसएससी छात्रों से मुलाकात की.

इससे पहले तिवारी ने प्रदर्शनकारी छात्रों के साथ केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की थी और एसएससी अभ्यर्थियों की चिंताओं के बारे में उनको जानकारी दी. सैकड़ों छात्र एसएससी कार्यालय के बाहर 27 फरवरी से प्रदर्शन कर रहे हैं.

इस मामले में स्वराज इंडिया के प्रमुख योगेंद्र यादव ने भी छात्रों का साथ देते हुए पीएम मोदी को पत्र लिखकर कहा था कि मैं बहुत दुखी हूं कि जब देश में लोग होली खेल रहे थे तब हमारे युवा अपने भविष्य की चिंता में प्रदर्शन कर रहे थे. वहीं ABVP के प्रतिनिधि मंडल ने भी एसएससी के चेयरमैन असीम खुराना से मिलकर उन्हें ज्ञापन सौंपा था.

यह था मामला

बता दें कि छात्रों का आरोप है कि कोचिंग इंस्टीट्यूट और SSC के अफसरों ने मिलकर घोटाले किये है, लिहाजा इन पर जांच होनी चाहिए. बता दें कि फरवरी में हुई एसएससी की परीक्षा में कथित तौर पर आंसर शीट लीक हो गई थी और इसके स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर वायरल हो गये थे. यह परीक्षा 17 फरवरी से 22 फरवरी के बीच हुई थी.