नई दिल्ली: वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु की आगामी अमेरिका यात्रा में अमेरिका द्वारा इस्पात और एल्युमीनियम पर आयात शुल्क बढ़ाने और वीजा पाबंदी जैसे प्रमुख मु्द्दे अहम होंगे. अमेरिका के व्यापार प्रतिनिधि और वाणिज्य मंत्री के साथ होने वाली बैठक में वह इन मुद्दों पर विशेष तौर से बातचीत करेंगे. Also Read - ह्यूस्टन पहुंचे PM मोदी, रविवार को राष्ट्रपति ट्रंप संग करेंगे 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में शिरकत

सुरेश प्रभु 10 जून से वाशिंगटन और न्यूयॉर्क की यात्रा पर होंगे. इस पांच दिन की यात्रा के दौरान वह अमेरिका में कई वरिष्ठ अधिकारियों से मिलेंगे. उन्होंने कहा कि वहां अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि और उनके वाणिज्य मंत्री के साथ बैठक होनी है. वे अमेरिका द्वारा उठाए गए एकतरफा कदमों को बैठक में उठाएंगे. इसमें एल्युमीनियम और इस्पात पर लगाए गए शुल्क और पेशेवरों के आवागमन पर लगाए गए हालिया प्रतिबंध जैसे प्रमुख मुद्दे शामिल हैं. प्रभु ने कहा कि भारत अमेरिका के साथ हर स्तर पर जुड़ रहा है क्योंकि अमेरिकी कंपनियों के लिए यहां बहुत अवसर हैं. उन्होंने कहा कि हम अमेरिका के साथ एक बड़े एजेंडा को सुनिश्चित करना चाहते हैं. नागर विमानन क्षेत्र में यहां अमेरिका के लिए बहुत अवसर हैं. प्रभु वहां निजी क्षेत्र के लोगों और शोध संस्थानों के साथ भी बातचीत करेंगे. (इनपुट एजेंसी) Also Read - 'हाउडी मोदी' के लिए ह्यूस्टन तैयार, नमो-नमो करते दिखेंगे ट्रंप, बिके 50 हजार टिकट

Also Read - भारत को वैश्विक नायक के रूप में पेश करेगा अमेरिका दौरा: पीएम मोदी