बेलगावी: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को यहां कहा कि उरी और पुलवामा में आतंकी हमलों के बाद पाकिस्तान में की गई ‘सर्जिकल स्ट्राइक्स’ ने जनता को आश्वस्त किया कि देश की सीमाएं नरेन्द्र मोदी नीत भाजपा सरकार के नेतृत्व में सुरक्षित हैं.Also Read - आजादी के 75 साल में पहली बार पाकिस्‍तान से तीर्थयात्र‍ी PIA की स्‍पेशल फ्लाइट से पहुंचेंगे भारत

उन्होंने कहा कि संकल्पबद्ध सरकार ने 2014 और 2019 के बीच उरी और पुलवामा में हुए आतंकी हमलों का कड़ा जवाब दिया था. शाह ने कहा, ‘‘भाजपा सरकार ने पाकिस्तान के भीतर दो बार ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ की और वहां आतंकवादियों का खात्मा किया.’’ Also Read - Republic Day 2022: भारत-पाकिस्तान सीमा पर BSF जवान 'हाई-अलर्ट' पर

वह कर्नाटक में हालिया पंचायत चुनाव में जीते भाजपा उम्मीदवारों का अभिनंदन करने के लिए आयोजित कार्यक्रम ‘जनसेवक समावेश’ में बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि ‘सर्जिकल स्ट्राइक्स’ ने जनता को भरोसा दिया कि राष्ट्र की सीमाएं सुरक्षित हैं क्योंकि मोदी प्रधानमंत्री हैं और देश में भाजपा की सरकार है. Also Read - Punjab Polls 2022: अमरिंदर का दावा- 'सिद्धू को मंत्री बनाने के लिए पाकिस्तान से आया था संदेश'

शाह ने कहा कि कुल 5,470 गांवों में से 3,142 गांवों में भाजपा समर्थित उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की. उन्होंने शनिवार को शुरू हुए राष्ट्रव्यापी कोविड-19 टीकाकरण अभियान के संदर्भ में कहा कि दोनों टीके सुरक्षित हैं और इस कवायद पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी खुद नजर रख रहे हैं.

गृहमंत्री अमित शाह इन दिनों कर्नाटक दौरे पर हैं. कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा ने रविवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की सरदार वल्लभभाई पटेल के साथ तुलना की, जो स्वतंत्रता प्राप्त करने के बाद देश के पहले उपप्रधानमंत्री भी थे.

कर्नाटक के बगलकोट शहर में एक सार्वजनिक रैली में येदियुरप्पा ने कहा, “शाह एकमात्र ऐसे नेता हैं, जो सरदार पटेल के कद के साथ बड़े हुए हैं. पटेल की तरह, शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी क्रांति की शुरुआत कर रहे हैं और देश को और अधिक ऊंचाइयों पर ले जा रहे हैं. पटेल (1875-1950) देश के पहले केंद्रीय गृहमंत्री भी थे और शाह और मोदी की तरह, गुजरात राज्य से थे.

मुख्यमंत्री ने कहा, “मोदी और शाह के नेतृत्व में, सत्तारूढ़ भाजपा 2023 में राज्य के अगले विधानसभा चुनावों में 150 से अधिक सीटों पर जीत हासिल करेगी, क्योंकि हमारी सरकार कोविड महामारी के बावजूद, विशेष रूप से किसानों का सर्वांगीण विकास सुनिश्चित करने के लिए अपनी पूरी कोशिश कर रही है.”