Sushant Singh Rajput Case Latest Updates: सुशांत सिंह राजपूत मौत की गुत्थी अब तक नहीं सुलझ सकी है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के डॉक्टरों के पैनल ने CBI को अपनी राय देते हुए कहा कि सुशांत सिंह राजपूत की हत्या नहीं हुई थी, बल्कि यह आत्महत्या का मामला है. एम्स की इस रिपोर्ट ने अभिनेता के परिवार और उनके वकीलों की थ्योरी को खारिज कर दिया है जिसमें यह दावा किया जा रहा था कि उन्हें जहर दिया गया था और गला दबाकर मारा गया था.Also Read - बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को मलेरिया हुआ, दिल्ली AIIMS में भर्ती

NDTV की वेबसाइट पर सूत्रों के हवाले से लगी खबर के मुताबिक, ‘AIIMS पैनल ने अपनी जांच पूरी कर ली है और सीबीआई को अपनी चिकित्सीय-कानूनी राय देने के बाद फाइल बंद कर दी है.. अब सीबीआई उस रिपोर्ट के साथ अपनी जांच की कड़ियों को जोड़ रही है. सूत्रों ने बताया कि AIIMS पैनल ने मुंबई के उस अस्पताल की राय पर अपनी सहमति जाहिर की है, जिसने अभिनेता का पोस्टमार्टम किया था. Also Read - 100 Crore Vaccination Milestone: तस्वीरों में देखें कैसे 100 करोड़ वैक्सीन का जश्न मना रहा देश

बता दें कि एम्स ने ऑटोप्सी रिपोर्ट में मौत का समय दर्ज न होने पर भी सवाल उठाया है, साथ ही कूपर हॉस्पिटल में हल्की रोशनी वाले पोस्टमार्टम रूम की ओर भी इशारा किया गया है. एम्स के एक सूत्र ने बताया कि डॉ. सुधीर गुप्ता की अध्यक्षता वाली फोरेंसिक बोर्ड ने अपनी निर्णायक रिपोर्ट केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंप दी है. बता दें कि 14 जून की रात को कूपर हॉस्पिटल के तीन डॉक्टरों ने मिलकर सुशांत का पोस्टमार्टम किया था. Also Read - रामलीला मंचन की Video Clip वायरल होने पर हुई ट्रोल, AIIMS स्‍टूडेंट्स ने माफी मांगी

इस सूत्र ने आगे बताया कि चिकित्सकों ने जहां अभिनेता के पेट में पाए गए एक तत्व को लेकर हुई अनिश्चितता के बारे में चिंता व्यक्त की है, वहीं रिपोर्ट में मौत का समय दर्ज न होने को लेकर भी सवाल उठाया है. हालांकि जहर से अभिनेता की मौत होने के एंगल को डॉक्टरों ने पूरी तरह से खारिज कर दिया. पेट में पाई गई चीजों पर चिकित्सकों ने इसलिए गौर फरमाया ताकि उन्हें पता लग सके कि सुशांत ने 13-14 जून की रात को खाने में क्या लिया था और सुबह उन्होंने नाश्ते में क्या खाया था.

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को मुंबई स्थित अपने अपार्टमेंट में मृत पाए गए थे. मुंबई पुलिस ने शव परीक्षण के आधार पर इसे आत्महत्या का मामला करार दिया था. हालांकि परिवारवालों का आरोप था कि उनकी हत्या की गई है.

(इनपुट: एजेंसी से भी)