पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का मंगलवार रात करीब 11:30 बजे निधन हो गया. वह 67 वर्ष की थीं. निधन से कुछ समय पहले सुषमा पूरी तरह से ठीक थीं और उन्होंने कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के लेकर कई ट्वीट भी किए. इसके बाद उन्होंने देश के जानेमाने वकील हरीश साल्वे से बातचीत की. हरीश साल्वे वही वकील हैं जिन्होंने सुषमा के विदेश मंत्री रहते वक्त कुलभूषण मामले में हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय अदालत में भारत की ओर से पैरवी की थी.

इस मामले की सुनवाई में हरीश साल्वे के तर्क से पाकिस्तान निरुत्तर हो गया था. पिछले दिनों इस मामले में अंतरराष्ट्रीय अदालत ने फैसला सुनाया और भारत यह मुकदमा जीत गया. इस मुकदमे की पैरवी के लिए हरीश साल्वे ने कोई फीस नहीं ली थी.

सुषमा स्वराज का वो आखिरी ट्वीट, जिसमें पीएम मोदी को इस बात के लिए दिया था धन्यवाद

अंग्रेजी न्यूज चैनल टाइम्स नाउ से बातचीत में हरीश साल्वे ने कहा कि निधन से करीब एक घंटा पहले ही उनकी सुषमा स्वराज से बात हुई थी. साल्वे ने कहा कि उन्होंने 8:50 बजे उनसे बात की. वह बहुत ही भावनात्मक बातचीत थी. उन्होंने कहा कि आपको मिलने आना होगा. आपने जो केस जीता है उसके लिए आपको मुझे आपका एक रूपया देना है. मैंने कहा कि निश्चित तौर पर मैं आऊंगा और अपना बेशकीमती फीस ले जाऊंगा. उन्होंने कहा कि कल शाम 6 बजे आइए.

पिछले माह ही अंतरराष्ट्रीय अदालत ने फैसला सुनाया था कि पाकिस्तान ने भारत के पूर्व नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव के काउंसलर एक्सेस हासिल करने के अधिकारों का उल्लंधन किया. अंतरराष्ट्रीय अदालत ने पाकिस्तान से कुलभूषण को सुनाई गई मौत की सजा की समीक्षा करने को भी कहा था.

यादों में सुषमाः यहां देखिए जीवन सफर की कुछ अनमोल तस्वीरें….