नई दिल्ली. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को शनिवार को ट्विटर पर फिर से ट्रोल किया गया और उन पर मुस्लिम तुष्टिकरण का आरोप लगा. सुषमा के पति स्वराज कौशल ने एक ट्विटर उपयोगकर्ता की पोस्ट का स्क्रीनशॉट ट्वीट किया. इस पोस्ट में कौशल से कहा गया है कि वह मंत्री को ‘मुस्लिम तुष्टिकरण’ नहीं करने के बारे में समझायें. विदेश मंत्री ने भी इस व्यक्ति के कुछ ट्वीटों को फिर से ट्वीट किया. Also Read - Sushma Swaraj husband Swaraj Kaushal Slams Naseeruddin Shah स्वराज कौशल का नसीरुद्दीन शाह को करारा जवाब- देश ने इतना दिया, लेकिन पूरी जिंदगी आप दुखी रहे

मुकेश गुप्ता नाम के शख्स ने सुषमा स्वाज के पति को ट्वीट कर कहा, जब वह आज रात को घर आएं तो आप उसे क्यों नहीं मारते और उन्होंने मुस्लीम तुष्टिकरण नहीं करने के लिए कहते. उन्हें बताइए कि मुस्लिम बीजेपी को कभी वोट नहीं देते. Also Read - गीता के माता-पिता की तलाश अब सोशल मीडिया से हुई शुरू, 24 के दावे हो चुके हैं फेल

इससे कुछ ही दिन पहले सुषमा को पासपोर्ट जारी करने को लेकर विवाद के सिलसिले में ट्रोल किया गया था. यह पासपोर्ट उस महिला को जारी किया था जिसने अन्य धर्म के मतावलंबी से विवाह किया था. इस दंपति ने लखनऊ के पासपोर्ट सेवा केन्द्र में कार्यरत विकास मिश्रा पर उन्हें पासपोर्ट आवेदन को लेकर अपमानित करने का आरोप लगाया था. विवाद के बाद मिश्रा का स्थानांतरण कर दिया गया.

इस दंपति ने दावा किया कि मिश्रा ने महिला के पति से कहा कि वह हिन्दू धर्म अपना ले. अधिकारी पर यह भी आरोप लगाया कि उसने महिला को एक मुस्लिम से विवाह करने को लेकर आड़े हाथ लिया. बाद में पुलिस एवं एलआईयू (स्थानीय खुफिया इकाई) की रिपोर्ट में पाया गया कि महिला ने जो पता दिया था, वह उस जगह पिछले एक साल से नहीं रह रही थी. सोशल मीडिया के एक वर्ग ने मिश्रा के खिलाफ कार्रवाई के लिए सुषमा एवं मंत्रालय पर हमला बोला और कहा कि वह तो महज अपनी ड्यूटी कर रहा था.

इस बारे में जो भी ट्वीट किये गये, उनमें से कई को सुषमा ने फिर से ट्वीट किया. यह पूछे जाने पर कि क्या मंत्रालय ट्रोल करने वालों के खिलाफ किसी कार्रवाई पर विचार कर रहा है, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘‘विदेश मंत्रालय ने इस प्रकार के दुर्भावनापूर्ण ट्वीट और ट्रोल करने का अपने तरीके से जवाब दिया था. मुझे नहीं लगता कि मेरे पास इस बारे में कहने के लिए कुछ और है.’’