नई दिल्ली: केंद्रीय संसदीय कार्यमंत्री वेंकैया नायडू ने सोमवार को कहा कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज संसद में ललित मोदी विवाद पर बयान देने की इच्छुक हैं। नायडू ने यहां सर्वदलीय बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा, “सुषमा स्वराज ललित मोदी के यात्रा दस्तावेजों के संबंध में लगे आरोपों पर बयान देना चाहती हैं।” संसद का मानसून सत्र मंगलवार को शुरू हो रहा है। यह भी पढ़े:बसों की पार्किं ग के लिए किराये पर जगह लेगी दिल्ली सरकार

वेंकैया ने सुषमा स्वराज और राजस्थान व मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्रियों -वसुंधरा राजे व शिवराज सिंह चौहान- के इस्तीकों की कांग्रेस की मांग भी खारिज कर दी। सरकार की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक, नायडू ने सर्वदलीय बैठक में मौजूद नेताओं से कहा कि सरकार प्रधानमंत्री की मध्य एशियाई देशों की यात्राओं और सरकार द्वारा की गई कुछ बड़ी पहलों पर बयान देना चाहती है।

बयान के मुताबिक, कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि व्यापमं और ललित मोदी से संबंधित घटनाक्रम गंभीर हैं और सरकार को इस संदर्भ में कार्रवाई करनी चाहिए। आजाद ने सुषमा और अन्य मंत्रियों के इस्तीफे की भी मांग की। सुषमा ने स्वीकार किया है कि उन्होंने पुर्तगाल के लिए यात्रा दस्तावेज हासिल करने में ललित मोदी की मानवीय आधार पर मदद की थी, क्योंकि उसकी पत्नी वहां कैसर का इलाज करा रही थी।