नई दिल्ली. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने रूस-भारत-चीन विदेश मंत्रियों की बैठक से इतर चीन के विदेश मंत्री वांग यी से हुई मुलाकात की. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस दौरान पुलवामा का मामला भी उठाया. बता दें कि पाकिस्तान को वैश्विक मंच पर अलग-थलग करने की दिशा में सुषमा की यह यात्रा काफी अहम है.

सुषमा स्वराज ने कहा, जम्मू कश्मीर में हमारे सुरक्षा बलों पर यह अबतक का सबसे बड़ा हमला था. आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद पाकिस्तान से संचालित हो रहा है और पड़ोसी देश उसपर किसी तरह की कार्रवाई नहीं कर रहा. उन्होंने बीजिंग से जारी बयान में कहा, ‘भारत में रोष और दुख की घड़ी में चीन आई हूं.

40 जवान हुए थे शहीद
बता दें कि भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों ने मंगलवार को तड़के नियंत्रण रेखा के दूसरी ओर पाकिस्तानी हिस्से में कई आतंकी शिविरों पर बमबारी की. यह कार्रवाई जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकी गुट जैश-ए-मोहम्मद द्वारा किए गए आत्मघाती हमले के ठीक 12 दिन बाद की गई है. पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे.