नई दिल्ली. असंतुष्ट आप विधायक और केजरीवाल सरकार के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा (Kapil Mishra) सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के खिलाफ चलाए जा रहे ‘नकारात्मक प्रचार’ से मुकाबले के लिए ‘माई पीएम, माई प्राइड’ (MY PM MY PRIDE) अभियान की शुरूआत करेंगे. एक समय पीएम मोदी को ‘आईएसआई एजेंट’ कहकर उनकी निंदा करने वाले मिश्रा ने कहा कि उनका यह अभियान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के प्रभाव में मोदी और भाजपा के खिलाफ दिए गए उनके बयानों का ‘पश्चाताप’ है. उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘मैं प्रधानमंत्री का प्रशंसक हूं और आप का विधायक हूं.’ इंडिया गेट के पास 11 नवंबर को अभियान की शुरुआत की जाएगी.

मिश्रा ने पहले कई मौकों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तीखी आलोचना की है. उन्होंने 2016 में पठानकोट आतंकी हमले के बाद प्रधानमंत्री के लिए ‘आईएसआई एजेंट’ शब्द का तक इस्तेमाल करके विवाद खड़ा कर दिया था. उन्होंने कहा, ‘इस बारे में नमो ऐप पर अपने एक इंटरव्यू में मैं पहले ही खेद जता चुका हूं.’ मिश्रा ने कहा कि उन्हें लगता है कि मोदी सरकार के चार साल के शासनकाल में भारत के शहरों में कोई बड़ा आतंकवादी हमला नहीं होना प्रधानमंत्री के कामकाज को दर्शाता है. मिश्रा ने कहा कि इस अभियान में फिलहाल दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा और बाद में पूरे देश में इसका विस्तार किया जाएगा.

विधायक मिश्रा की मां भाजपा की वरिष्ठ नेता हैं और पूर्वी दिल्ली की मेयर भी रह चुकी हैं. केजरीवाल और दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन के खिलाफ भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाने के बाद आप में दरकिनार किए गए मिश्रा की नजदीकियां फिर से भाजपा नेताओं से हो गईं. पूर्वी दिल्ली की करावल नगर विधानसभा से विधायक ने अपने अभियान के बारे में कहा, ‘यह अभियान उन लोगों के लिए जवाब है जो मोदी के खिलाफ नकारात्मक अभियान चला रहे हैं. यह उन लोगों को भी एकजुट करेगा जो आप से अलग हो चुके हैं लेकिन राष्ट्र के लिए काम करना चाहते हैं.’ कपिल मिश्रा ने अपने एक ट्वीट में दिल्ली के लोगों से इस अभियान से जुड़ने की अपील की है. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा है, ‘आपको गर्व है PM मोदी पर तो आइए एक साथ मिलकर बोले ‘मेरा PM – मेरा अभिमान’. 11 नवंबर को 3:00 बजे इंडिया गेट. कार्यक्रम में आने के लिए कॉल कीजिए – 9005221035.’

(इनपुट – एजेंसी)