नई दिल्ली: राजधानी में बीजेपी मुख्यालय के बाहर शुक्रवार को सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश पर हमला किया गया. यह हमला उस समय किया गया, जब स्वामी अग्निवेश यहां पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने आए थे. बीजेपी मुख्यालय में वाजपेयी का पार्थिव शरीर श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए रखा गया है. Also Read - पीएम मोदी के लक्ष्य को पाने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री समेत सभी नेता लेंगे टीबी के मरीजों को गोद

स्वामी अग्निवेश के दीन दयाल उपाध्याय मार्ग पर स्थल पर पहुंचने के तुंरत बाद कुछ लोगों ने उनके खिलाफ नारेबाजी करते हुए उन्हें वापस जाने को कहा. समाचार चैनल द्वारा प्रसारित कुछ फुटेज में उन्हें भागते हुए और कुछ लोगों द्वारा उनका पीछा करते देखा जा सकता है. ऐसा माना जा रहा है कि ये बीजेपी के कार्यकर्ता हैं. इसके बाद दिल्ली पुलिस ने अग्निवेश को गाड़ी में बैठा लिया और उन्हें सुरक्षित ले गई. ये सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में कुछ लोगों को अग्निवेश के साथ धक्का मुक्की करते हुए देखा जा सकता है. Also Read - विवादित बयान के बाद प्रज्ञा ठाकुर कार्यकारी अध्‍यक्ष नड्डा से मिलने पहुंची बीजेपी मुख्‍यालय

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने पहुंचे सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश के साथ शुक्रवार को बीजेपी कार्यालय के पास धक्का-मुक्की और मारपीट की गई. सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में कुछ लोगों को 79 वर्षीय अग्निवेश के साथ धक्का-मुक्की करते हुए देखा जा सकता है. Also Read - बेटी पढ़ाई जारी रखना चाहती थी, बाप ने चाकू से गोदकर नहर में धक्‍का दे दिया

अग्निवेश ने मीडियाकर्मियों से कहा, ”अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने भाजपा मुख्यालय जाते समय मुझ पर हमला किया गया. करीब 20-30 भाजपा कार्यकर्ता आए और मुझे घेरकर धक्का-मुक्की करने लगे. मेरी पगड़ी गिर गयी और उन्होंने मुझे देशद्रोही कहना शुरू कर दिया.” उन्होंने कहा, ” उन लोगों ने मुझे विष्णु दिगंबर चौराहे की ओर धक्का देना शुरू कर दिया और मेरे साथ गालीगलौच की. वहां कुछ पुलिस वाले खड़े थे, लेकिन कुछ महिलाओं समेत ये लोग हाथों में जूते चप्पल लेकर मुझे अपशब्द बोलते रहे.”

स्वामी अग्निवेश ने दावा किया कि उन्होंने बीजेपी कार्यालय जाने से पहले पार्टी नेता और केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन को इसकी जानकारी दी थी. वह मारपीट के मामले में पुलिस में औपचारिक शिकायत दर्ज कराएंगे. उन्होंने कहा, ”पुलिस ने अभी तक मुझसे संपर्क नहीं किया है. मैं पुलिस में शिकायत दर्ज कराउंगा. मुझ पर पहले भी हमला किया गया था और इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं की गई है. हिंसा और असहिष्णुता का माहौल है.”

पिछले महीने ही झारखंड के पाकुड़ में भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने उनके साथ मारपीट की थी. अग्निवेश पर ये हमला  पाकुड़ जिले में एक गांव में सार्वजनिक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए जाते समय किया गया था. यह हमला भाजपा के युवा मोर्चा व एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने किया था.