नई दिल्लीः पूरा देश इस समय खतरनाक वायरस की चपेट में और सरकार सहित सभी नागरिक इससे बचने की कोशिश में लगे हुए हैं. देश के प्रधानमंत्री ने लॉकडाउन लगाकर इसके संक्रमण को रोकने की कोशिश की, लेकिन दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज के कांड ने इस कोशिश को एक बहुत बड़ा झटका दिया है. जानकारी के अनुसार मरकज के प्रमुख मौलाना साद 28 तारीख से गायब है और पुलिस लगातार तलाशने की कोशिश कर रही है. Also Read - India Covid-19 Updates: देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 54 लाख के पार, अब तक 86 हजार से ज्यादा की जा चुकी है जान....

इस घटना के बाद से राजधानी समेत पूरे देश में हड़कंप मच गया और सभी राज्य सरकारें उन सभी लोगों की तलाश कर रही हैं जो कि निजामुद्दीन मरकज में आकर ठहरे थे या फिर कार्यक्रम में शामिल हुए थे. मरकज के मौलाना साद का एक ऑडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है जिसमें कई विवादित और भड़काऊ बाते सुनाई दे रही हैं. हालांकि यह ऑडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है यह कितना सच है इसकी पुष्टि हम नहीं करते. ऑडियो क्लिप में मौलाना लोगों से कह रहे हैं कि मरना तो एक दिन है ही लेकिन मरने के लिए मस्जिद नसीब हो तो इससे अच्छा कुछ नहीं हो सकता. Also Read - Corona Cases in Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में 2,617 और लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि, 19 लोगों की हुई मौत

इस वायरल ऑडियो क्लिप में जब मौलाना साद लोगों को धार्मिक ज्ञान के नाम पर भड़का रहे थे तब लोगों के खांसने और छींकने की भी आवाजे साफ तौर पर सुना जा सकता है इससे मालूम होता है कि मरकज में बैठी भीड़ में कोरोनावायरस फैल चुका था. Also Read - Lockdown in Chhattisgarh: कोविड-19 के संक्रमण के चलते छत्तीसगढ़ में 28 सितंबर तक लगेगा लॉकडाउन, रायपुर बना कंटेनमेंट जोन

ऑडियो में मौलाना साद कोरोना संक्रमण को साजिश बता रहा है. मौलाना कह रहा है कि क्या तुम मौत से भाग जाओगे? कौन सी ऐसी जगह है जहां तुम अल्लाह के निजाम और कुदरत के दायरे से निकल जाओगे?

आपको बता दें कि तबलिगी जमात के लगभग 1500 से ज्यादा लोगों को इस समय क्वारंटीन में रखा गया है. अभी तक लगभग दस लोगों की इस वायरस से मौत हो चुकी है जबकि 450 से ज्यादा लोगों में कोरोना के लक्षण पाए गए है. अब यह आने वाले वक्त में पता चलेगा कि मौलाना की इस लापरवाही का देश में क्या असर पड़ेगा.