Photo: thehindu

Photo: thehindu

चेन्नई, 8 मार्च | तमिलनाडु के कृषि मंत्री ‘अग्नि’ एस.एस. कृष्णमूर्ति को मंत्री परिषद से हटा दिया गया है। उनके विभाग में एक इंजीनियर द्वारा आत्महत्या करने के बाद उन्हें पद से हटाया गया है। राजभवन से शनिवार रात जारी एक बयान के अनुसार, राज्यपाल के.रोसैया ने कृष्णमूर्ति को मंत्री परिषद से हटाने की मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम की सिफारिश स्वीकार कर ली है।Also Read - Weather News Upadte: IMD का अलर्ट, कल रात से कहां होगी बर्फबारी, देश के किन राज्‍यों में होगी बारिश

अब कृषि मंत्रालय की जिम्मेदारी आर.वैथियालिंगम को दी गई है, जो आवास एवं शहरी विकास मंत्री भी हैं।   कृष्णमूर्ति ने पिछले महीने कृषि विभाग के इंजीनियर मुथुकुमारासामी को बर्खास्त कर दिया था, जिसके बाद उन्होंने आत्महत्या कर ली थी। इस घटना के बाद राजनीतिक दलों कृष्णमूर्ति को मंत्रिमंडल से हटाने की मांग की थी, जिसे देखते हुए सरकार ने यह कदम उठाया है। Also Read - Omicron Threat: इन राज्‍यों में कोरोना वायरस के नए वारियंट ओमीक्रोन के मद्देनजर हाई अलर्ट

आरोप है कि कृष्णमूर्ति के कार्यालय ने विभाग में चालक के पद पर कुछ लोगों की नियुक्ति के लिए मुथुकुमारासामी पर दबाव बनाया था। पीएमके के संस्थापक एस. रामदॉस ने मुथुकुमारासामी को कथितरूप से हत्या के लिए उकसाने हेतु पूर्व कृषि मंत्री की गिरफ्तारी की मांग की है। यह पहला मौका है, जब पन्नीरसेल्वम ने मुख्यमंत्री बनने के बाद मंत्री परिषद से किसी मंत्री को हटाया है। Also Read - टमाटर देश के कई राज्यों में 120 रुपए किलो से अधिक में बिक रहा

गौरतलब है कि पिछले साल भ्रष्टाचार के आरोप में एआईएडीएमके प्रमुख जे. जयललिता को सजा सुनाए जाने और जेल जाने के बाद पन्नीरसेल्वम ने मुख्यमंत्री का पदभार संभाला था।