चेन्नई: पंजाब और महाराष्ट्र के बाद तमिलनाडु तीसरा राज्य बन गया है जिसने लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ाने का फैसला किया है. बता दें कि देश में जारी लॉकडाउन का तीसरा चरण आज समाप्त हो रहा है. लॉकडाउन 4.0 को लेकर केंद्र द्वारा दिशानिर्देश जारी करने से पहले ही इन राज्यों ने अपने यहां लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला किया है. तमिलनाडु ने 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला किया है जिसमें कहा गया है सि चेन्नई समेत राज्य के 12 जिलों में कोई छूट नहीं दी जाएगी. Also Read - अब बिना आधार कार्ड के नहीं कटेंगे बाल, सरकार ने जारी किए निर्देश

हालांकि तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने करीब दो महीने के बाद 25 जिलों में सार्वजनिक परिवहन बहाल करने सहित कई नयी रियायतों की घोषणा की है. पलानीस्वामी ने कहा कि राजधानी चेन्नई सहित 12 अन्य जिलों में पाबंदियों में कोई बदलाव नहीं होगा और वहां तीसरे चरण के लॉकडाउन के नियम लागू रहेंगे. Also Read - इन राज्‍यों में अभी भी अंतरराज्यीय यात्रा पर जारी रहेगा प्रतिबंध, प्‍लान करने से पहले जान लें

शीर्ष अधिकारियों, जन स्वास्थ्य और चिकित्सा विशेषज्ञों से परामर्श के बाद पलानीस्वामी ने कहा कि लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ाया गया है और शिक्षण संस्थानों, धार्मिक स्थलों में लोगों के प्रवेश पर रोक जारी रहेगी जबकि पूर्व में दी गईं रियायतें पूरे राज्य में पहले की तरह प्रभावी होंगी. Also Read - पंजाब: मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया, कहा- केंद्र के दिशा निर्देशों पर करेंगे अमल

मुख्यमंत्री ने कोयंबटूर, सेलम, इरोड, तिरुपुर, नमक्कल और करुर सहित 25 जिलों में नयी रियायतों की घोषणा की. इन जिलों में लोगों को सरकारी और निजी बस सेवा की सुविधा मिलेगी. इन बसों का परिचालन जिले की सीमा के भीतर ही होगा और अलग से ई-पास की जरूरत नहीं होगी.

बता दें कि तीन राज्यों में संक्रमण के 10,000 से अधिक मामले हैं जिनमें सर्वाधिक 30,706 मामले महाराष्ट्र में हैं. गुजरात में 10,988 मामले और तमिलनाडु में संक्रमण के 10,585 मामले हैं. कोरोना से तमिलनाडु में 74 मरीजों की मौत हुई है. इससे पहले रविवार को महाराष्ट्र सरकार ने भी लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ाने का फैसला लिया है. वहीं शनिवार को पंजाब सरकार ने सबसे पहले लॉकडाउन 31 मई तक बढ़ाने की बात कही थी.