चेन्नई: द्रमुक विधायक एस कथावारायण का शुक्रवार को यहां निधन हो गया है. वह 58 साल के थे. पिछले दो दिनों में पार्टी के दो विधायकों का निधन हो गया है. पार्टी सूत्रों ने बताया कि वेल्लोर जिले की गुडियातम विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से विधायक ने यहां एक निजी अस्पताल में अंतिम सांस ली, जहां उनका उपचार चल रहा था. Also Read - 14 राज्यों में अब तक तबलीगी जमात के 647 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए: Health Ministry

  Also Read - निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन में शामिल हुए तमिलनाडु के 110 लोग संक्रमित

तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित और द्रमुक प्रमुख एम के स्टालिन ने कथावारायण के निधन पर शोक व्यक्त किया है. कथावारायण के निधन से एक दिन पहले पार्टी विधायक एवं पूर्व मंत्री केपीपी सामी का यहां बृहस्पतिवार को निधन हो गया था. स्टालिन ने एक बयान में कहा कि सामी और कथावारायण को खोना मेरे लिए बहुत बड़ी क्षति है. विधायकों के निधन के कारण 234 सदस्यीय तमिलनाडु विधानसभा में द्रमुक के विधायकों की संख्या कम होकर 98 रह गई है.

द्रमुक प्रमुख एम के स्टालिन ने शोक व्यक्त किया
कथावारायण को लोकसभा चुनाव के साथ 22 निर्वाचन क्षेत्रों में हुए उपचुनाव में पिछले साल विधानसभा में चुना गया था. स्टालिन ने कथावारायण द्वारा निभाई गई विभिन्न जिम्मेदारियों का जिक्र किया. उन्होंने मृतक के परिजन के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए कहा कि कथावारायण को उपचुनाव में सभी का समर्थन मिला. पुरोहित ने विधायक के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि मैं शोकसंतप्त परिवार के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करता हूं और ईश्वर से दिवंगत की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करता हूं.