Coronavirus in Tamil Nadu: तमिलनाडु में कोविड​​-19 मामलों की संख्या में वृद्धि की पहचान करने के लिए, राज्य सरकार ने शुक्रवार को संबंधित अधिकारियों और डॉक्टरों को सलाह दी की कि वे संक्रमित रोगियों को घर में पृथकवास में रखने के बजाय अस्पतालों में भर्ती करें. चिकित्सा और परिवार कल्याण मंत्री मा सुब्रमण्यम ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग ने नए मामलों में वृद्धि के सही कारणों की पहचान करने के लिए भी कदम उठाए हैं.Also Read - NEET Exam Latest Update: इस राज्य में अब नहीं होगी नीट परीक्षा, विधानसभा में पारित हुआ विधेयक

उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘‘राज्य में 28 जुलाई को 1,756 नए मामले सामने आए थे, लेकिन कल यह संख्या बढ़कर 1,859 हो गयी … यानी 103 नए मामले जुड़ गए हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘राज्य में एक महीने से अधिक समय से संक्रमण के नये मामलों में गिरावट की प्रवृत्ति देखी जा रही थी और यह पहली बार बढ़ी है.’’ Also Read - मद्रास हाईकोर्ट ने एक याचिका के फैसले में कहा- तमिल ईश्वर की भाषा है

उन्होंने कहा कि चेन्नई, कन्याकुमारी, कोयंबटूर, इरोड और कुड्डालूर जैसे जिलों में नए मामलों में वृद्धि देखी गई है. उन्होंने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री (एम के स्टालिन) ने संक्रमण के मामलों में वृद्धि के कारणों के बारे में पूछताछ की है… हम इस मुद्दे पर चर्चा कर रहे हैं.’’ Also Read - Retired Lt Gen गुरमीत सिंह उत्तराखंड के नए राज्‍यपाल नियुक्‍त, आरएन रवि तमिलनाडु और पुरोहित पंजाब भेजे गए

मंत्री ने कहा, ‘‘हमने संबंधित अधिकारियों और अस्पतालों को सलाह दी है कि वे संक्रमित रोगियों को घरों मे पृथकवास में रखने और उनके संपर्क में रहने वालों की निगरानी करने के बजाय, उन्हें अस्पताल में भर्ती करें.’’

सुब्रमण्यम ने तमिलनाडु में संक्रमण के मामलों में अचानक वृद्धि के लिए लोगों द्वारा मास्क पहनने और सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करने में लापरवाही को भी जिम्मेदार ठहराया.

(इनपुट भाषा)