नई दिल्लीः तमिलनाडु की राज्य सरकार ने अपने राज्य के 2.6 करोड़ राशन कार्ड धारकों के लिए एक अहम फैसला लिया है. सरकार अपने राशनकार्ड धारकों को 2500 रुपये कैश देने का फैसला किया है. यह फैसला राज्य सरकार द्वारा पोंगल के त्योहार के मद्देनजर लिया गया है. बता दें कि इसकी प्रोत्साहन राशि का आवंटन 4 जनवरी से शुरू किया जाएगा.Also Read - Ration Card Holding Benefits: घर बैठे उठाएं सरकारी सुविधाओं का लाभ, साथ ही निपटाएं राशन से जुड़े हर काम

बता दें कि पोंगल के त्योहार से पहले 2500 रुपये कैश के साथ साथ राशन के अन्य सामान जैसे- एक किलो चावल, चीनी, किशमिश, इलायची, काजू, एक गन्ना और एक कपड़े का बैग देगी. बता दें कि बीते वर्ष भी तमिलनाडु सरकार ने अपने राशनकार्ड धारकों को त्योहार से पहले 1000 रुपये की राशि आम जनता को दी थी, ताकि वे चावल खरीद सकें. वहीं इस साळ इस राशि को बढ़ा दिया गया है. गौरतलब है कि पोंगल का त्योहार 14 जनवरी को मनाया जाता है. Also Read - New Ration Card Download: घर बैठे पाएं अपना नया राशन कार्ड, ये है आसान तरीका

बता दें कि साल 2014 में AIDMK की सरकार ने राज्य के राशनकार्ड धारकों को 1 किलो चीनी, एक किलो चावल और 100 रुपये पोंगल के त्योहार पर देने की शुरूआत की थी. साल 2018 में इसे बढ़ाकर 1000 और साल 2021 के लिए इसे बढ़ाकर 2500 रुपये कर दिया गया है. राज्य सरकार की इस घोषणा के बाद विपक्ष के नेता एमके स्टॉलिन ने मख्यमंत्री पलानीस्वामी के फैसले पर सवाल उठाने खड़े किए हैं. Also Read - यूपी के राशन कार्ड धारकों को अब हर महीने फ्री में मिलेगा दोगुना राशन, जानिए किसे होगा फायदा

उनका कहना है कि जब लोग परेशान थे उस दौरान पलानीस्वामी द्वारा लोगों को आर्थिक रात नहीं दी गई थी, लेकिन अब चुनाव के नजदीक आते ही मुख्यमंत्री ने 2500 रुपये राशनकार्ड धारकों को देने की घोषणा कर दी है. स्टालिन ने कहा कि पलानीस्वामी को चाहिए कि कम से कम महामारी से त्रस्त लोगों को 5000 रुपये की सहायता राशि दी जानी चाहिए, जो महामारी और मॉनसून के कारण पीड़ित हैं. बता दें कि पलानीस्वामी ने इस बयान को नकार दिया है.