Tauktae Cyclone: एक तरफ जहां कोरोना ने भारत की अर्थव्यवस्था को हिलाकर रख दिया है, जिस कारण लोगों को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है. वहीं दूसरी ओर चक्रवाती तूफान तौकते गोवा में तबाही मचाने के बाद अब गुजरात की तरफ मुड़ चुका है. आशंका है कि तौकते शाम तक गुजरात की तट तक पहुंच सकता है. 18 मई की सुबह यह चक्रवात पोरबंदर और भावनगर के बीच से गुजरेगा. Also Read - Monsoon In India 2021: समय से पहले पहुंचा मानसून, ओडिशा-पश्चिम बंगाल में भारी बारिश, Bihar-UP-MP में चेतावनी जारी

अन्य राज्यों में तबाही मचा चुका चक्रवात गुजरात में तबाही मचाए इससे पहले प्रशासन ने कमर कस ली है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह लगातार इस बाबत राज्यों के मुख्यमंत्रियों संग लगातार चर्चा कर रहे हैं. इससे पहले कई राज्यों को तूफान को लेकर अलर्ट पर रखा गया है. यहां कोस्ट गार्ड व NDMA ने मोर्चा संभाल लिया है. Also Read - Mumbai में बारिश का कहर जारी, कई इलाकों में जलजमाव, मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट

बता दें कि भारतीय मौसम विभाग गुजरात, दमन, दीव के लिए येलो अलर्ट जारी किया है. IMD की माने तो 18 मई तक 150-160 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चलेंगी. हालांकि राज्य के निचले क्षेत्रों व तट के करीब रह रहे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है. इस बाबत किसी भी तरह की आपदा से निपटने के लिए राज्य में NDRF, SDRF की कुल 54 टीमों को तैनात किया गया है. Also Read - MP Weather Forecast: मध्य प्रदेश के 6 जिलों में यलो अलर्ट जारी, बारिश के साथ बिजली गिरने की आशंका

राज्य के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने बैठक ने इस बाबत समीक्षा बैठक के बाद यह फैसला लिया है कि चक्रवात के कारण किसी की मौत न हो, इस कारण लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जाए. साथ ही राज्य में इस तूफान के बाबत सोमवार और मंगलवार के दिन टीकाकरण अभियान को रोकने का भी फैसला लिया गया है.