अमरावती: तेलुगू देशम पार्टी के प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने बुधवार को आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी को पत्र लिखकर उनसे अनुरोध किया कि यहां ‘प्रजा वेदिका’ को विपक्ष के नेता के आवास का उपभवन (सौध) घोषित किया जाए. इस ढांचे का निर्माण आंध्र प्रदेश राजधानी क्षेत्र विकास प्राधिकरण ने मुख्यमंत्री की आधिकारिक बैठकों के लिए किया था. Also Read - Schools Reopening: इस राज्‍य में नवंबर से खुलेंगे स्‍कूल, 9वीं से 12वीं, 6वीं से 8वीं कक्षा की तय हुईं तारीखें

Also Read - School Reopening: 2 नवंबर से अब इस राज्य में खुलने जा रहे स्कूल, दिशानिर्देशों का पालन करना होगा अनिवार्य

  Also Read - Weather Forecast: तेलंगाना के बाद अब आंध्र प्रदेश में अलर्ट, 3 दिनों तक भारी बारिश का अनुमान

नायडू ने मुख्यमंत्री को लिखे पहले औपचारिक पत्र में कहा कि विधानसभा चुनाव 2019 के उपरांत, मेरे मुख्यमंत्री कार्यालय को छोड़ने के बाद, मैंने संपत्ति स्वामी के नियम और शर्तों पर सहमति के अनुरूप वही निजी आवास अपने पास रखने का फैसला किया है. उन्होंने कहा कि चूंकि ‘प्रजा वेदिका’ मेरे वर्तमान आवास के पास मौजूद है, मैं आधिकारिक प्रयोग के लिए इसे अपने आप बनाए रखना चाहता हूं. नायडू ने पत्र में कहा कि जैसा कि आप अवगत हैं, मुझे विपक्ष के नेता के तौर पर जिम्मेदारियों का निर्वाह करने के लिए तेलुगू देशम पार्टी के विधायक दल का नेता चुना गया है.

जगनमोहन रेड्डी ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में ली शपथ

नायडू ने अनुरोध किया कि ‘प्रजा वेदिका’ को विपक्ष के नेता के आवास का उपभवन (एनेक्सी) घोषित किया जाए ताकि मैं विधायकों, आगंतुकों, आम लोगों से मिल सकूं तथा अपने कर्तव्यों का निर्वाह कर सकूं. नायडू ने कहा कि उनके अनुरोध पर ‘सकारात्मक रूप से विचार हो’ और संबंधित प्राधिकारों को जरूरी निर्देश दिये जाएं. यह पत्र ऐसे समय लिखा गया है जब पूर्व मुख्यमंत्री को अब तक औपचारिक रूप से विपक्ष का नेता नहीं चुना गया है.