नई दिल्ली। भारत को रक्षा के क्षेत्र में एक और बड़ी सफलता मिली है. रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि ओडिशा के तटीय जिला बालासोर में एक समेकित परीक्षण केंद्र से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का आज लगातार दूसरे दिन सफल परीक्षण किया गया. ब्रह्मोस का सफल परीक्षण उसकी मारक क्षमता पर मुहर लगाता है.

मंत्रालय ने बताया कि मिसाइल का परीक्षण स्वायत्त लॉन्चर से दोपहर करीब पौने 12 बजे किया गया. यह अपने निर्धारित मार्ग से सफलतापूर्वक गुजरा और अपने मिशन के लक्ष्य को पूरा किया.

ब्रह्मोस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक सुधीर मिश्रा ने बताया कि इस परीक्षण के जरिए ईंधन प्रबंधन प्रणाली और अन्य मेटालिक एयरफ्रेम कलपुर्जों सहित अहम स्वदेशी पुर्जे मिसाइल का हिस्सा बनाने के लिए खरा उतरे. ब्रह्मोस भारत और रूस का संयुक्त उद्यम है.

रक्षा सूत्रों ने बताया कि आज के परीक्षण के जरिए ‘मेक इन इंडिया’के तहत स्वदेश निर्मित बड़ी उप प्रणालियों की जांच की गई.

(एजेंसी इनपुट)