चंडीगढ़: सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के पूर्व जवान तेज बहादुर यादव ने रविवार को दुष्यंत चौटाला नीत जननायक जनता पार्टी (जजपा) में शामिल होने के बाद कहा कि वह हरियाणा के आगामी विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ मैदान में होंगे. बता दें कि समाजवादी पार्टी ने इस साल हुए लोकसभा चुनाव में तेज बहादुर को वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ उम्मीदवार बनाया था लेकिन चुनाव आयोग ने यह कहते हुए उनका नामांकन रद्द कर दिया था कि उन्होंने मांगी गई पूरी जानकारी नहीं दी. Also Read - Halal or Jhatka Meat: मांस 'हलाल' है या 'झटके' का, ये बताना अनिवार्य, अफसरों बोले- खाने वालों को जानने का हक़

Also Read - Madhya Pradesh: 'Tandav' के खिलाफ दो शहरों में FIR, बीजेपी नेता ने उद्धव ठाकरे को भेजा पत्र

तेज बहादुर को 2017 में बीएसएफ जवानों को परोसे जाने वाले भोजन की गुणवत्ता के बारे में शिकायत करते हुए एक वीडियो पोस्ट करने के बाद बर्खास्त कर दिया गया था. हरियाणा के महेन्द्रगढ़ जिले के निवासी यादव नयी दिल्ली में दुष्यंत चौटाला की मौजूदगी में जजपा में शामिल हुए. यादव ने कहा कि मैं जजपा और दुष्यंत चौटाला का आभारी हूं कि उन्होंने मुझे करनाल से मुख्यमंत्री के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिये नामित किया. उन्होंने कहा कि हरियाणा में बेरोजगारी बड़ी समस्या है. तेज बहादुर ने कहा कि उनकी लड़ाई हमेशा भ्रष्टाचार के खिलाफ रही है. Also Read - अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति के रूप में शपथ लेकर Kamala Harris ने रचा इतिहास

BJP ने 13 राज्यों के विधानसभा उपचुनाव के लिए किया उम्मीदवारों का ऐलान, यूपी से इन्हें मिला टिकट

सपा ने पीएम मोदी के खिलाफ वाराणसी से बनाया था उम्मीदवार

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी ने इस साल हुए लोकसभा चुनाव में तेज बहादुर को वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ उम्मीदवार बनाया था लेकिन चुनाव आयोग ने यह कहते हुए उनका नामांकन रद्द कर दिया था कि उन्होंने मांगी गई पूरी जानकारी नहीं दी. हरियाणा में 90 सदस्यीय विधानसभा के लिये 21 अक्टूबर को मतदान होना है.