नई दिल्ली/पटना. राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने पत्नी ऐश्वर्या से तलाक लेने की अर्जी पर पहली बार बयान दिया है. शनिवार को न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए उन्होंने कहा, हां यह सच है कि मैंने अदालत में अर्जी दी है. घुट-घुट के जीने से कोई फायदा तो है नहीं. बता दें कि तेज प्रताप यादव ने शुक्रवार को एक स्थानीय अदालत में अर्जी दाखिल कर अपनी पत्नी ऐश्वर्य राय से तलाक की गुहार लगाई है. Also Read - Abhishek Bachchan-Aishwarya Rai ने जब एक साथ किया Rock N Roll डांस , फिर जो हुआ

तेजप्रताप और ऐश्वर्य की शादी लगभग पांच महीने पहले हुई थी. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक तेजप्रताप और ऐश्‍वर्य पिछले चार महीने से साथ नहीं रह रहे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, उन्‍होंने अपनी पत्‍नी पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है. मीडिया कर्मियों द्वारा इस बारे में पूछे जाने पर उन्‍होंने सीधे कोई जवाब नहीं दिया, लेकिन कहा कि वह कृष्‍ण की तरह रहना चाहते हैं, ऐश्‍वर्य राधा नहीं बन पाई. बता दें कि ऐश्वर्या की स्कूली शिक्षा पटना में हुई है और उच्च शिक्षा दिल्ली में हुई है. दूसरी तरफ तेज प्रताप 12वीं पास हैं. Also Read - Aishwarya Rai के बाद अब Deepika Padukone के हमशक्ल की Photo हुई Viral, आंखें खुली रह जाएंगी...

पहले भी फाइल कर चुके हैं अर्जी
सूत्रों के मुताबिक, तेजप्रताप ने कुछ दिन पहले तलाक के लिए अदालत में अर्जी दाखिल की थी, लेकिन तकनीकी कारणों से राजद नेता की वह अर्जी स्वीकार नहीं की गई थी. इसके बाद शुक्रवार को उन्होंने नई अर्जी दाखिल की. अदालत की संबंधित इकाई (फाइलिंग सेक्शन) ने जरूरी कार्रवाई के लिए इसे आगे बढ़ा दिया है. Also Read - अपनी ही पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद पर भड़के तेजप्रताप, कहा, ऐसे लोगों के कारण लालू प्रसाद बीमार हैं

शादी के बाद तेजप्रताप ने ‘कृष्णवतार’ का करवाया था मंचन
तेजप्रताप खुद को कृष्ण और शिव भक्त बताते रहते हैं. वह मथुरा और देवघर जाते रहते हैं. ऐसे में 12 मई 2018 को शादी के बाद तेजप्रताप ने अपनी वैवाहिक जीवन में सुख, शांति और समृद्धि के लिए ‘कृष्णवतार’ का तीन दिनों तक मंचन करवाया था. शादी के एक दिन बाद 13 मई को राबड़ी देवी के घर और 14-15 मई को बांके बिहारी शिव मंदिर में उन्होंने कृष्णलीला करवाया गया था.