हैदराबाद: तेलंगाना विधानसभा कार्यकाल समाप्त होने से आठ महीने पहले भंग कर दी गई थी. जिसके चलते राज्य में जल्द चुनाव होने वाले थे. जिसकी अधिसूचना जारी होने के साथ तेलंगाना विधानसभा चुनाव के लिए सरगर्मियां बढ़ गई है. कल से चुनाव जीतने के लिए लड़ाई शुरू होगी. टी आर एस जहां फिर से सत्ता में वापसी की कोशिश कर रही है, वहीं कांग्रेस नीत गठबंधन भी बाजी जीतने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहता. इस चुनाव के लिए 12 नवंबर को अधिसूचना जारी होगी और नामांकन भरने की अंतिम तारीख 19 नवंबर होगी. राज्य में एक ही चरण में 07 दिसंबर को मतदान होगा.

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: पहले चरण की वोटिंग सोमवार को, सीएम समेत कई दिग्‍गज हैं मैदान में

हैरत में विपक्ष
के. चंद्रशेखर राव के नेतृत्व वाली टी आर एस सरकार की सिफारिश पर छह सितंबर को 119 सदस्यीय विधानसभा कार्यकाल समाप्त होने से आठ महीने पहले भंग कर दी गई थी. इससे राज्य में जल्द चुनाव का मार्ग प्रशस्त हो गया था. निर्वाचन आयोग द्वारा जारी चुनावी कार्यक्रम के अनुसार, चुनाव के लिए 12 नवंबर को अधिसूचना जारी होगी और नामांकन भरने की अंतिम तारीख 19 नवंबर होगी. राज्य में एक ही चरण में सात दिसंबर को मतदान होगा. तेलंगाना राष्ट्र समिति (टी आर एस) 107 सीटों के लिए पहले ही अपने उम्मीदवार घोषित कर चुकी है. इनमें से 105 सीटों के लिए उम्मीदवार विधानसभा भंग होने के चंद मिनट के भीतर ही घोषित कर दिए गए थे. इस तरह टीआरएस ने तुरत-फुरत चुनाव प्रचार शुरू कर विपक्ष को हैरत में डाल दिया था.

जनता ने साथ दिया तो लोगों को अच्छे दिन नहीं, बल्कि ‘पुराने दिन’ लौटाएंगे: भूपेंद्र सिंह हुड्डा

टीआरएस और भाजपा अकेले दम पर आजमा रहे किस्मत
टीआरएस अकेले चुनाव लड़ रही है और उसी तरह भाजपा भी अकेले ही मैदान में है. मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू के नेतृत्व वाली तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) और तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) तथा भाकपा के साथ गठबंधन किया है. कांग्रेस ने पिछले सप्ताह कहा था कि वह गठबंधन सहयोगियों के लिए 25 सीटें छोड़ेगी जिनमें तेदेपा के लिए 14, टी जे एस के लिए आठ तथा भाकपा के लिए तीन सीटें होंगी. वर्ष 2014 के चुनावों में टी आर एस ने 34 प्रतिशत मतों के साथ 63 सीटों पर जीत दर्ज की थी. वहीं, तेदेपा को 14.5 मतों के साथ 15 सीटें मिली थीं. भाजपा के खाते में सात प्रतिशत मतों के साथ पांच सीट गई थीं. (इनपुट भाषा)