नई दिल्ली: बुधवार की रात तेलंगाना के मेदक में बोरवेल में एक तीन साल के मासूम के गिरने की घटना सामने आई. 120 फिट गहरे बोलवेल में बच्चे के गिरने की सूचना पाते ही जिलाधिकारी समेत एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची, लेकिन बच्चे को बचाया नहीं जा सका. लगभग 12 घंटे तक मेदक में बच्चे को सुरक्षित निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलता रहा. मासूम को बचाने के लिए हैदराबाद से विशेष टीम बुलाई गई थी.Also Read - Delhi, Mumbai में घटी कोरोना की रफ्तार, कर्नाटक में बड़ी संख्‍या में आए केस, देखें अपने राज्य का अपडेट

जिलाधिकारी के धर्मा रेड्डी ने कहा यह बहुत ही दुखद है कि बच्चे को बचाया नहीं जा सका. उन्होंने कहा कि मासूम की बॉडी निकाल ली गई है और अस्पताल भेजा गया है. उन्होंने कहा कि मेदक में घटना स्थल पर तीन बोरवेल किए गए थे जिनकी इजाजत प्रशासन से नहीं ली गई थी. उन्होंने कहा कि इसके खिलाफ जरूरी कार्रवाई की जाएगी. Also Read - SSC exam: एसएससी परीक्षा देने जा रहे इन छात्रों को मिलेगी उम्र सीमा और फीस में छूट, जानें

Also Read - भारत में 2 सालों में पेड़, वन क्षेत्र में 2261 वर्ग KM की बढ़ोतरी हुई : ISFR Report

बताया जा रहा है कि तीन का साल का मासूम साई वर्धन खेलते- खेलते सूखे पड़े बोरवेल में जा गिरा. साई के बोरवेल में गिरने की सूचना मिलते ही आसपास के इलाके में हाराकार मच गया. लोगों ने इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी.

लोगों ने बताया कि यहां पर तीन बोर किए गए थे लेकिन पानी न निकलने की वजह से इन्हें ऐसे ही खुला छोड़ दिया गया. कई बार इसकी सूचना और शिकायत भी की गई लेकिन इस पर किसी तरह का ध्यान नहीं दिया गया. आस पास के लोगों ने बताया कि बच्चा जिस बोरोवेल में गिरा था उसकी खुदाई बुधवार को ही गई थी.