telangana-map

हैदराबाद: तेलंगाना में मंगलवार को स्थापना दिवस की पहली वर्षगांठ उत्साह के साथ मनाई जा रही है। हैदराबाद और राज्य के नौ अन्य जिलों में रंगारंग त्यौहार जैसा माहौल है। देश के 29वें राज्य के रूप में दो जून 2014 को तेलंगाना का गठन हुआ था। इससे पहले तेलंगाना के 10 जिले आंध्र प्रदेश का हिस्सा थे। यह भी पढ़े:भारत, स्वीडन के बीच 6 समझौतों पर हस्ताक्षर

राज्य के स्थापना दिवस के उत्साह में सप्ताह भर चलने वाले जश्न का आरंभ दो जून की शुरुआत यानी रात्रि 12 बजे हैदराबाद में 12 चयनित स्थानों पर पटाखों की रौशनी के साथ हुई। मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने मंगलवार सुबह विधानसभा भवन के पास गन पार्क में तेलंगाना के शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित कर औपचारिक रूप से तेलंगाना स्थापना दिवस के जश्न का शुभारंभ किया।

इसके बाद उन्होंने सिकंदराबाद के परेड ग्राउंड में राष्ट्रध्वज फहराया और मुख्य समारोह में रंगारंग परेड का अवलोकन किया और सलामी ली। तेलंगाना विधानसभा उपाध्यक्ष पद्म देवेंद्र रेड्डी ने विधानसभा में राष्ट्रध्वज फहराया। वहीं विधान परिषद के अध्यक्ष के. स्वामि गौड़ ने परिषद परिसर में राष्ट्रध्वज फहराया। राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) पार्टी के मुख्यालय तेलंगाना भवन पर भी कार्यक्रम आयोजित किया गया।

तेलंगाना के गृह मंत्री एवं वरिष्ठ टीआरएस नेता एन. नरसिम्हा रेड्डी ने पार्टी का ध्वज फहराया। टीआरएस सरकार ने राज्य में एक साल का कार्यकाल पूरा होने के अवसर पर भी राज्य की समृद्ध संस्कृति और सरकार की एक साल की उपलब्धि को दर्शाने के लिए विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए।

राजधानी हैदराबाद के अलावा राज्य के सभी नौ जिलों के मुख्यालयों पर भी स्थापना दिवस के अवसर पर कार्यक्रम आयोजित किए गए। मंत्रियों ने विभिन्न स्थानों पर राष्ट्रध्वज फहराया और रंगारंग समारोहों का अवलोकन किया। राज्य स्थापना दिवस पर कांग्रेस, तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यालयों में भी जश्न मनाया गया।