हैदराबाद: आगामी तेलंगाना विधानसभा चुनावों में कांग्रेस 90 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है और शेष 29 सीटें अपने गठबंधन सहयोगियों – तेदेपा, टीजेएस और भाकपा के लिए छोड़ सकती है. तेलंगाना में 119 सीटों पर विधानसभा चुनाव सात दिसम्बर को होंगे.

चारों दलों के सूत्रों ने सोमवार को बताया कि विचार-विमर्श के तहत तेदेपा को 15 सीटों की पेशकश की गई है. प्रोफेसर कोडान्दाराम के नेतृत्व वाले तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) को नौ सीटें और भाकपा को पांच सीटों की पेशकश की गई है.

तेलंगाना के कांग्रेस प्रभारी आर. सी. खुंटिया ने हर दल द्वारा लड़े जाने वाले सीटों की संख्या पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया, लेकिन कहा कि सीट बंटवारे के फार्मूला पर एक- दो दिनों के अंदर घोषणा होने की उम्मीद है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस शुक्रवार को अपने उम्मीदवारों की पहली सूची और चुनाव घोषणा पत्र जारी करने की योजना बना रही है.

तेलंगाना में ताकत आंकने को BJP अकेले लड़ेगी चुनाव, कहा- असम जैसे राज्यों से मिली प्रेरणा

खुंटिया ने बताया, ‘‘मसौदा (घोषणा पत्र) तैयार है. हमें इसे कांग्रेस के पास भेजना होगा (मंजूरी के लिए) हम इसे एक नवम्बर तक जारी करने का प्रयास कर रहे हैं. एक या दो नवम्बर तक 60 से 65 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा हो सकती है.’’

तेलंगाना विधानसभा चुनाव: कांग्रेस को भाकपा के साथ सीटों के तालमेल पर सहमति की उम्मीद

बता दें कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव ने समय पूर्व विधानसभा चुनाव का फैसला लेते हुए सदन भंग करने की अनुशंसा राज्यपाल से की थी. चुनाव आयोग द्वारा मतदान की तिथियों की घोषणा के बाद से ही कांग्रेस राज्य में मौजूद छोटे दलों के साथ गठबंधन की कोशिश कर रही है. इनमें तेदेपा, माकपा और टीजेएस शामिल हैं.