तेलंगाना सहित 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव चल रहे हैं. तेलंगाना और राजस्थान में 7 दिसंबर को वोटिंग है. पांचों राज्यों के परिणाम 11 दिसंबर को आ जाएंगे. लेकिन इस बीच कर्नाटक के उल्लू चर्चा में हैं. इनका नाम ‘इंडियन गर्ल आउल’ है, जिसे लेकर कर्नाटक से लेकर तेलंगाना तक के पुलिस-प्रशासन अलर्ट हो गए हैं. टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, तेलंगाना चुनाव का असर ही है कि कर्नाटक में उल्लुओं की संख्या में काफी कमी आ रही है.

रिपोर्ट के मुताबिक, तेलंगाना में कई राजनैतिक पार्टियों के प्रत्याशी अपने विरोधियों को हराने के लिए उल्लुओं का सहारा ले रहे हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में ही कई जगह लोगों का मानना है कि उल्लू बुरी किस्मत लेकर आता है. उनकी मान्यता के मुताबिक, जिस घर में उल्लू घुस जाता है, वहां खराब समय चलने लगता है. ऐसे में तेलंगाना में कई प्रत्याशी अपने विरोधियों के बुरे दिन के लिए उल्लू का सहारा ले रहे हैं.

6 लोग गिरफ्तार
कर्नाटक पुलिस ने कलबुर्गी के सेदाम में 6 लोगों को उल्लू तस्करी में गिरफ्तार किया है. खास बात ये है कि उल्लूओं की एक खास प्रजाति ‘इंडियन गर्ल आउल’ की तस्करी की जा रही थी. सेदाम तेलंगाना से सटा हुआ इलाका है. रिपोर्ट के मुताबिक, पूछताछ में गिरफ्तार लोगों ने बताया कि तेलंगाना के कुछ प्रत्याशियों ने उल्लुओं का ऑर्डर किया था. इसके पीछे ”गुड लक, बैड लक” वाला चक्कर है और वे विरोधियों का लक खराब करना चाहते थे.

ये है कीमत
रिपोर्ट के मुताबिक, तस्कर एक उल्लू 3 से 4 लाख रुपये में बेच रहे हैं. बताया जा रहा है कि कथित ”काला जादू” के लिए कुछ लोग उल्लुओं को मारकर उसके शरीर के अंग विरोधियों के घर के सामने फेंक देते हैं. बेंगलुरु से तीन, मैसूर से तीन और बेलागवी से ऐसे दो मामले सामने आ चुके हैं.