हैदराबाद: तेलंगाना के खम्मम जिले में 2,000 रुपये का नकली नोट देकर ठगी करने के आरोप में 54 वर्षीय एक कारोबारी और चार अन्य को शनिवार को गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने बताया कि इन नोटों पर ‘चिल्ड्रेन बैंक ऑफ इंडिया’ छपा था. खम्मम के पुलिस आयुक्त तफसीर इकबाल ने शहर में एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि आरोपियों के पास से नोटों के करीब 350 बंडल जब्त किये गये.

 

अधिकारी ने बताया कि शेख मदार का दूध और कुक्कुट का कारोबार था. वह पिछले 20 साल से नकली नोट के वितरण में शामिल था. अधिकारी ने बताया कि कारोबारी भोले भाले लोगों से असली मुद्रा लेकर कथित रूप से उन्हें नकली नोट थमा देता था. उन्होंने बताया कि मदार ने लोगों से कहा था कि सरकार 2,000 रुपये के नोट पर प्रतिबंध लगाने जा रही है और एक असली मुद्रा के बदले वह उन्हें पांच नोट देने की पेशकश करता था. अधिकारी ने बताया कि मदार की पत्नी और उनका बड़ा बेटा फरार है, वे इस धोखाधड़ी में उसकी मदद करते थे जबकि उसका भतीजा, ड्राइवर और दो अन्य भी कथित रूप से इस फर्जीवाड़ा में शामिल थे, जिन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है.

इलेक्ट्रिशियन ने दर्ज करायी थी शिकायत
अधिकारी ने बताया कि 26 अक्टूबर को इस धोखाधड़ी का पता तब चला जब एक इलेक्ट्रिशियन ने शिकायत दर्ज करायी और आरोप लगाया कि मदार, उसके ड्राइवर और दो अन्य को उसने नोटों के बदले दो लाख रुपये नकद दिया था. उन्होंने बताया कि इलेक्ट्रिशियन ने अपनी शिकायत में कहा कि इसके बदले में उसे कुछ नहीं (यहां तक कि नकली नोट भी नहीं) दिया गया और जब उसने नोट की मांग की तो उस पर चाकू से वार किया गया.