हैदराबाद: तेलंगाना में 49 जेलों में से सत्रह को जेलों में बंद कैदियों की संख्या में कमी के बाद अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया है. राज्य जेल विभाग का बंद की गई जेलों का समाज कल्याण केंद्रों के रूप में उपयोग करने का इरादा है. राज्‍य में कैदियों की संख्या सात हजार से कम होकर लगभग पांच हजार हो गई है.

विभाग के मुताबिक, कैदियों की संख्या कम होने के कारण पिछले लगभग पांच सालों में 17 जेलों को बंद किया गया है. बताया गया है कि कैदियों की संख्या में कमी उनके द्वारा किए गए सुधार व पुनर्वास उपायों और कैदियों को समाज से अपराधों को घटाने को लेकर साझीदार के रूप में कार्य करने के लिए प्रेरित करने का परिणाम है. विभाग ने कहा कि कैदियों की संख्या सात हजार से कम होकर लगभग पांच हजार हो गई है.

जेलों और सुधारात्मक सेवाओं के महानिदेशक विनय कुमार सिंह ने बताया कि बंद जेलों का इस्तेमाल समाज कल्याण केंद्रों या भिखारियों, निराश्रितों, अनाथों आदि के लिए विशेष घरों के रूप में किया जा सकता है.